पटना एयरपोर्ट पर उतरे शहीदों के शव, ग़मगीन हुआ माहौल, DM-SSP सहित कई नेता मौजूद

patna-crpf1

पटना : सोमवार को छतीसगढ़ के सुकमा में शहीद हुए बिहार के सीआरपीफ जवानों का शव मंगलवार शाम पटना एयरपोर्ट पहुंचा. नक्सली हमले में शहीद हुए बिहार के 6 में से 5 जवानों का शव पटना एयरपोर्ट लाया गया. जवान कृष्ण कुमार पांडेय का शव वाराणसी एयरपोर्ट लाया गया जहां से उन्हें सड़क मार्ग से चेनारी लाया जाएगा.

patna-crpf1

मंगलवार को शहीदों का शव पटना एयरपोर्ट पर पहुंचते ही माहौल गमगीन हो गया गया. एक शांत वातावरण में अधिकारी व सीआरपीएफ के जवान परिसर में शहीदों का शव के लिए खड़े रहे और जैसे ही उनका शव एयरफोर्स के विमान से उतारा गया. सभी जवान आगे बढ़े. परिसर में सीआरपीएफ के आइजी महेंद्र सिंह भटटी ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया.

patna-crpf2

इस मौके पर डीआइजी नीरज कुमार व एमएस सुमन सीआरपीएफ, केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव, विधायक संजीव चौरसिया, ऊर्जा विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत, पटना डीएम संजय कुमार अग्रवाल, एसएसपी मनु महाराज और विधायक श्याम रजक मौजूद थे.

patna-crpf3

शहीदों में सासाराम (चेनारी) के कृष्ण कुमार पांडेय, लोमा (वैशाली) के अभय कुमार, अरियरि (शेखपुरा) के रंजीत कुमार, अहिला (दरभंगा) के नरेश यादव, दानापुर के सौरभ कुमार, कौंरा (भोजपुर) के अभय मिश्र शामिल हैं.

बिहार के शहीद जवान

jawan1

jawan

पटना एयरपोर्ट से सभी शवों को सड़क मार्ग से आगे उनके पैतृक स्थान भेजा जाएगा. सभी जवानों के अपने घरों पर पुलिस सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा. इससे पहले मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सभी शहीद जवानों के परिवार के प्रति संवेदना प्रकट की. उन्होंने साथ ही सभी परिवारों के लिए 5-5 लाख रूपये की अनुग्रह राशि की भी घोषणा की.

बता दें कि छत्तीसगढ़ के सुकमा में सीआरपीएफ जवानों पर नक्सली हमले में कुल 25 जवानों ने अपनी शहादत दे दी. शहीद होने वाले जवानों में से 6 बिहार के रहने वाले थे. छत्तीसगढ़ में बीते 7 साल में सीआरपीएफ पर यह सबसे बड़ा हमला है. इससे पहले 2010 में 76 जवान शहीद हुए थे.

सभी तस्वीरें विभिन्न स्रोतों से साभार

यह भी पढ़ें :
सुकमा नक्सली हमले में बिहार के 6 सपूतों ने भी दी शहादत
सहरसा में राजनाथ : कहा- नक्सलियों के खात्मे के लिए अब हो कड़ी कार्रवाई
दरभंगा के शहीद नरेश के पिता ने कहा- बेटे पर है गर्व
भोजपुर के शहीद अभय मिश्रा के पिता का दर्द, मेरे बेटे को ‘अपनों’ ने ही मारा