GST का टेंशन : अब माइक्रोटैक्‍स आपको दिलाएगा परमानेंट सॉल्‍यूशन

microtax1

पटना : गुड एंड सर्विस टैक्‍स (GST) देश भर में लागू हो गया है. लेकिन अब भी बिजनेसमैन और पब्लिक के बीच जीएसटी को लेकर कांसेप्‍ट साफ नहीं हुआ है. कई प्रकार के सवाल लोगों के जेहन में घूम रहे हैं. लेकिन प्रॉब्‍लम ये है कि उनके पास ऐसा कोई व्‍यक्ति या ऐसा कोई भी ऑर्गनाईेजेशन नहीं है, जो उनके सवालों का सॉल्‍यूशन बता दे.

GST को लेकर पटना सहित बिहार के परेशान बिजनेसमैन व पब्लिक को टेंशन लेने की जरूरत नहीं है. अब हर सॉल्‍यूशन के लिए माइक्रोटैक्‍स की टीम तैयार है. शुक्रवार को इसके बिहार जोनल ऑफिस का इनॉगरेशन किया गया. खास बात ये है कि इसका इनॉगरेशन किसी वीआईपी गेस्‍ट ने नहीं किया, बल्कि माइक्रोटैक्‍स को अस्तित्‍व में लाने वाले 4 चाटर्ड अकाउटेंट के पिता ने अपने हाथों से किया. चाटर्ड अकाउटेंट की टीम में राजेश खेतान, महताब आलम, प्रभू प्रसाद और एमके मसीह शामिल हैं.

microtax1

GST पर मार्केट जा करेंगे अवेयर

जीएसटी को लेकर परेशान चल रहे बिजनेसमैन और पब्लिक को माइक्रोटैक्‍स ने अवेयर करने का डिसीजन लिया है. जल्‍द ही इनकी एक टीम पटना सहित पूरे बिहार के अलग-अलग जिलों में जाएगी. वहां के मार्केट में कैंप करेगी और बिजनेसमैन व पब्लिक को अवेयर करेगी. जीएसटी को लेकर सारी जानकारियां लोगों को उपलब्‍ध कराई जाएगी. साथ ही कॉरपोरेट कंपनियों में काम करने वालों को फ्री टेनिंग मुहैया कराई जाएगी.

microtax

मामूली है सर्विस चार्ज

माइक्रोटैक्‍स से जुड़ने वाले बिजनेसमैन को 5 सुविधाएं उपलब्‍ध कराएगी. जिसमें जीएसटी रजिस्ट्रेशन, रिटर्न्‍स, अकाउंटिंग, सपोर्ट और सॉल्‍यूशन शामिल है. टीम के सदस्य राजेश खेतान के अनुसार सर्विस के लिए लोगों को मामूली चार्ज देना होगा. इसके लिए महज 1500 रुपए ही देने होंगे. हालांकि गवर्नमेंट के स्‍टार्टअप प्‍लान के तहत शुरूआत करने वाली कंपनियों को ये सुविधाएं फ्री उपलब्‍ध कराई जाएंगी. राजेश के अनुसार धीरे-धीरे माइक्रोटैक्‍स बिहार के सभी जिलों में मूव करेगा और वहां अपना ब्रांच खोलेगा.