पीएम से मिले पप्पू, कहा मधेपुरा में खुले एम्स, जमीन देंगे हम

लाइव सिटीज डेस्क: जन अधिकार पार्टी (लो) के संरक्षक और सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्‍पू यादव ने शुक्रवार को नई दिल्‍ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की. इस दौरान उन्‍होंने मांगों का ज्ञापन प्रधानमंत्री को सौंपा और विकास के लिए सहयोग भी मांगा. पप्पू यादव ने प्रधानमंत्री को सौंपे ज्ञापन में कहा कि बिहार को विकास के लिए विशेष राज्‍य का दर्जा मिलना जरूरी है. इसके साथ ही विशेष सहायता भी प्रदान की जाए, ताकि राज्‍य के विकास में तेजी आ सके.

सांसद पप्पू यादव ने मधेपुरा जिले के कुमारखंड प्रखंड में नया एम्‍स खोलने की मांग की. उन्‍होंने कहा कि हजारों लोग प्रतिवर्ष इलाज के लिए दिल्‍ली एम्‍स में जाते हैं. यदि मधेपुरा में एम्‍स खुल जाएगा तो लोगों को सहूलियत हो सकेगी. उन्‍होंने कहा कि राज्‍य सरकार जमीन उपलब्‍ध कराने में असमर्थता जताती है तो वे खुद भी जमीन उपलब्‍ध को तैयार हैं. पप्पू यादव ने सुपौल जिले के वीरपुर हवाई अड्डा का जीर्णोद्धार और सौंदर्यीकरण के साथ इसके वाणिज्यिक परिचालन शुरू करने की मांग की.

पप्पू यादव ने कहा कि विभिन्‍न मद में बिहार को मिलने वाला केन्द्रीय अंश अन्‍य राज्‍यों की तुलना में कम है. इससे अन्‍य राज्‍यों की अपेक्षा बिहार विकास की दौड़ में पिछड़ गया है. राज्‍यों के बीच राशि आवंटन के नये फार्मूले के कारण भी बिहार को कम राशि मिल रही है. पप्पू यादव ने कहा कि बिहार पिछले कई वर्षों से दोहरे अंक में विकास दर हासिल कर रहा है, इसके बावजूद बिहार की प्रति व्‍यक्ति आय राष्‍ट्रीय औसत से कम है. गरीबी रेखा से नीचे रहने वालों की संख्‍या बढ़ती जा रही है. इन समस्‍याओं से मुकाबले के लिए बिहार को विशेष राज्‍य का दर्जा देना जरूरी हो गया है. सांसद ने कहा कि विशेष राज्‍य का दर्जा मिलने से विकास के नये रास्‍ते खुलेंगे. साथ ही रोजगार के नए अवसर भी बढ़ेंगे. देश की प्रतिव्‍यक्ति आय में भी बिहार का योगदान बढ़ सकेगा.


उन्‍होंने कहा कि कुसहा त्रासदी के बाद वीरपुर हवाई अड्डा बदहाल हो गया है. यह पशुओं की चारागाह बन गया है. इस संबंध में विभागीय कार्रवाई का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि इसके जीर्णोद्धार के लिए 17 करोड़ रुपये खर्च हो गये, फिर भी यह विमान उतारने के लायक नहीं बन सका है. उन्‍होंने इस मामले में हस्‍तक्षेप कर वीरपुर हवाई अड्डा से वाणिज्यिक परिचालन शुरू करने की मांग की. इसके अलावा भी सांसद ने कोसी और सीमांचल से जुड़े कई मामलों को प्रधानमंत्री के समक्ष उठाया.