BJP नेता हत्याकांड : भाई ने लगाया JDU विधायक पर आरोप

KRISHNA

गोपालगंज : जिले के फुलवरिया में बीजेपी नेता कृष्णा शाही के हत्याकांड में अब एक नया मोड़ आ गया गया है. मृतक बीजेपी नेता कृष्णा शाही के बड़े भाई उमेश शाही ने इस हत्याकांड के लिए जदयू विधायक पप्पू पाण्डेय उर्फ़ अमरेन्द्र कुमार पाण्डेय और उनके आपराधिक चरित्र वाले भाई सतीश पाण्डेय, जिला परिषद् अध्यक्ष मुकेश पाण्डेय को भी जिम्मेदार ठहराया है. उमेश शाही ने आरोप लगाया है कि उनके भाई की हत्या की साजिश जदयू विधायक पप्पू पाण्डेय के द्वारा रची गयी थी, और इसी साजिश के तहत उनकी हत्या की गयी है.

गौरतलब है कि पूर्व में भी कृष्णा शाही ने कुचायकोट के जदयू विधायक पप्पू पाण्डेय के खिलाफ जानलेवा हमला का आरोप लगाया था. जदयू विधायक पप्पू पाण्डेय गोपालगंज के कुचायकोट के विधायक है. उनके बड़े भाई सतीश पाण्डेय कुख्यात अपराधी रह चुके है. जिनके ऊपर हत्या की साजिश, अपहरण, लूट सहित कई मामले दर्ज हैं. इनमें कई मामलो में ये कोर्ट से बरी हो चुके हैं, जबकि कई मामलो में बेल पर बाहर है. मुकेश पाण्डेय जिला परिषद् अध्यक्ष है. वे विधायक पप्पू पाण्डेय के भतीजा और सतीश पाण्डेय के बेटे हैं.

KRISHNA

उधर इस घटना के बाद फुलवरिया के मांझा में आज लोगो ने जमकर हंगामा किया है. गुस्साए लोगों ने आदित्य राय के घर में जमकर तोड़फोड़ की. कृष्णा शाही इसी घर में रात में ठहरे थे, जहां घर से कुछ दूरी पर सुबह कुएं में उनका शव मिला है.

मामले में हथुआ के एसडीपीओ इम्तेयाज अहमद के मुताबिक कृष्णा शाही मांझा के कमलेश राय के घर में रात को ठहरे थे और उसके बाद से लापता थे. बताया जाता है कि वो अक्सर इस गांव में आते-जाते रहते थे. ऐसी स्थिति में पुलिस हत्या के अन्य वजहों को भी तलाश रही है. इस मामले में अबतक 5 लोगो को गिरफ्तार किया गया है. पूरे मामले की तहकीकात जारी है. बता दें कि बीजेपी नेता के शरीर पर कई जगह चोट के गहरे जख्म हैं. जिससे माना जा रहा है कि हत्या से पहले उनकी बेरहमी से पिटाई की गयी है.

गोपालगंज से त्रिभुवन नाथ मिश्रा की रिपोर्ट

भाजपा नेता कृष्णा शाही का शव कुएं से बरामद, हत्या की आशंका, अब तक 5 अरेस्ट