हाई कोर्ट : बिहार ओलम्पिक एसोसियेशन में कब होंगे चुनाव, 10 दिन में बताएं

Patna-High-Court-min

पटना (एहतेशाम अहमद) : बिहार ओलम्पिक एसोसियेशन के गठन के बाद निर्धारित समय पर इसके कार्यकारिणी का चुनाव नहीं कराये जाने और एसोसियेशन में बरती जा रही अनियमितता के विरूद्ध दायर लोकहित याचिका पर सुनवाई करते हुए पटना उच्च न्यायालय ने इंडियन ओलम्पिक एसोसियेशन को दस दिनों के भीतर जवाब देने का निर्देश दिया है.

मुख्य न्यायाधीश राजेन्द्र मेनन एवं न्यायाधीश डाॅ. अनिल कुमार उपाध्याय की खंडपीठ ने मुकुंददेव शर्मा की याचिका पर मंगलवार को सुनवाई करते हुए उक्त निर्देश दिया. याचिकाकर्ता की ओर से अदालत को बताया गया कि बिहार ओलम्पिक एसोसियेशन का गठन होने के बाद चुनाव के लिए निर्धारित समय में कार्यकारिणी का चुनाव कराया जाना था. परंतु काफी समय बीत जाने के बाद भी चुनाव नहीं कराया जा रहा है. चुनाव नहीं कराये जाने के कारण एसोसियेशन में कई प्रकार की अनियमितताएं सामने आयी हैं. साथ ही साथ ओलम्पिक एसोसियेशन के तहत जो भी खेल खेला जाता है उसका विकास बाधित है और बिहार की खेल प्रतिभाएं भी इससे प्रभावित हो रही है.

Patna-High-Court

नियमों के विरुद्ध नियुक्ति पर सवाल

एक अन्य मामले में उच्च न्यायालय ने मौलाना मजहरूल हक अरबी एवं फारसी विश्वविद्यालय में नियमों के बगैर की गयी नियुक्तियों पर सुनवाई की. न्यायालय ने बगैर विहित चयन प्रक्रिया अपनाए गैर शैक्षणिक कर्मियों की बहाली किये जाने एवं अस्वीकृत पद पर कार्य कर रहे संविदा कर्मियोें को वेतन एवं अन्य मद का भुगतान किये जाने के विरूद्ध दायर लोकहित याचिका पर सुनवाई करते हुए विश्वविद्यालय के कुलपति को निर्देश दिया कि वह दो माह के भीतर सिंडिकेट की बैठक में लिये गये निर्णय पर विधिसम्मत कार्रवाई करें.

मुख्य न्यायाधीश राजेन्द्र मेनन एवं न्यायाधीश डा. अनिल कुमार उपाध्याय की खण्डपीठ ने मो. असलम एवं अन्य की ओर से दायर लोकहित याचिका पर मंगलवार को सुनवाई करते हुए उक्त निर्देश दिया. याचिकाकर्ता की ओर से अदालत को बताया गया कि मौलाना मजहरूल हक अरबी एवं फारसी विश्वविद्यालय में गैर शैक्षणिक पदों पर संविदा के आधार पर करीब 10 लोगों की बहाली की गई थी. वहीं बाद में नियमित बहाली भी की गयी. परंतु संविदा रद्द नहीं किया गया. इसको लेकर सिंडिकेट की बैठक में इस सम्बंध में एक प्रस्ताव भी पास किया गया. परंतु विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा उस प्रस्ताव पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गयी है.

यह भी पढ़ें –
जनरल बोगी से गया था दिल्ली, पहले ही दिन बांग्लादेश के ग्रैंडमास्टर को हराया
3 वर्ष की उम्र में तेजप्रताप करते थे रमा देवी की सेवा, बदले में मिल गई 13 एकड़ जमीन
पत्नी का बुर्का पहन घूम रहे थे पटना के इंजीनियर साहब, अलीगढ़ में धरा गये