हुलास पांडेय की चुनाव याचिका हाई कोर्ट में खारिज

hulas2

पटना (एहतेशाम) : वर्ष 2015 में हुए एमएलसी चुनाव में भोजपुर-सह-बक्सर स्थानीय निकाय चुनाव में निर्वाचित महागठबंधन के राजद प्रत्याशी राधा चरण साह के निर्वाचन को चुनौती देने वाली लोजपा-राजग प्रत्याशी हुलास पांडेय की याचिका को पटना उच्च न्यायालय ने खारिज कर दिया. न्यायाधीश मुंगेश्वर साहू के एकलपीठ ने हुलास पांडेय द्वारा दायर चुनाव याचिका पर सुनवाई करते हुए अपने आदेश सुरक्षित रख लिया था. इस पर सोमवार को अपना उन्होंने अपना फैसला सुनाया.



गौरतलब है कि हुलास पांडेय ने अपने चुनाव याचिका में यह आरोप लगाया था कि मतों की गिनती में काफी हेरपफेर करते हुए उनको प्राप्त कुल मतों में से 413 मतों को निर्वाची पदाधिकारी द्वारा निरस्त कर दिया गया, जिस कारण चुनाव में उनकी हार हुई.

hulas2

बताते चलें कि वर्ष 2015 में हुए स्थानीय निकाय के विधान परिषद चुनाव में महागठबंधन के प्रत्याशी राधा चरण साह ने लोजपा प्रत्याशी हुलास पांडेय को 329 मतों के अंतर से पराजित किया था. महागंठबंधन के प्रत्याशी साह को जहां 2854 मत मिले थे, वहीं लोजपा-राजग समर्थित प्रत्याशी हुलास पांडेय को 2525 मत प्राप्त हुए थे, जबकि तीसरे नंबर पर रहे स्वतंत्र प्रत्याशी अनिल कुमार को 247 और चौथे स्थान पर भाकपा माले प्रत्याशी राजनाथ राम को सिर्फ 65 वोट से संतोष करना पड़ा था.

हुलास पांडेय तरारी के बाहुबली विधायक सुनील पांडे के भाई हैं. रणवीर सेना सुप्रीमो की हत्या के मामले में भी इनका नाम चर्चा में आया था, लेकिन पुष्टि नहीं हो सकी थी. पहले बतौर निर्दलीय विधानपार्षद चुने गए, फिर जद (यू) से जुड़े. बाद में हुलास पांडे लोजपा से जुड़ गए.

यह भी पढ़ें :
अगले हफ्ते जेल से बाहर आ जायेंगे अनंत सिंह
मोदी के बाद राजद ने फिर की प्रेस कांफ्रेंस, कहा – 24 घंटों में होगा सनसनीखेज खुलासा
लालू प्रसाद ने सुमो से पूछा- बताओ RK मोदी तुम्हारा मौसा है या फूफा..