‘गैंग्स ऑफ़ वासेपुर’ स्टाइल में मर्डर करना चाहता था बेटा, खुद मां-बाप ने दी थी सुपारी

vishesh
गिरफ्तार विशेष एवं अन्य

पटना (नियाज़ आलम) : पटना पुलिस ने गुरुवार को जमीन विवाद में एक शख्स की हत्या होने के पहले ही अपराधियों को घर-दबोचने में सफलता हासिल की है. जिन लोगों को गिरफ्तार किया गया है उनपर फ़िल्मी स्टाइल में हत्या करने का जुनून सवार था. लेकिन वो अपने इरादों में कामयाब हो पाते, इससे पहले ही पटना एसएसपी मनु महाराज की विशेष टीम ने उन्हें गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त कर ली. गिरफ्तार किये गए 3 अपराधियों के पास से पुलिस को हथियार भी बरामद हुए हैं, साथ ही यह भी जानकारी मिली है वो पहले भी कई मामलों के वांछित अभियुक्त रहे हैं.

क्या है मामला

दरअसल, यह पूरा मामला पटना के रूपसपुर इलाके के एक होटल मालिक से जुड़ा है. एसएसपी मनु महाराज को गुप्त सूचना मिली थी कि रूपसपुर थाना क्षेत्र अन्तर्गत होटल मेजबान में रेस्टोरेन्ट के स्वामित्व संबंधी विवाद लगातार बढ़ता चला जा रहा है. यह होटल किसी भी समय कही अन्य स्थानान्तरित होने वाला है  और इसके बकायदारों द्वारा लगातार इसके  मालिक जो ‘डेवलपिंग इंडिया प्रोग्रेसिव इंडिया’ नाम की कम्पनी के भी मालिक हैं, से अपने-अपने बकाये की  मांग हेतु तगादा किया जा रहा है. एसएसपी को यह भी सूचना मिल रही थी कि इन लोगों द्वारा फर्जी तरीके से ए जी कॉलोनी स्थित किसी भूमि के नाम पर कई व्यक्तियों से मोटी राशि भी वसूली गई हैं.

इतनी जानकारी के बाद एसएसपी ने पुलिस अधीक्षक, पश्चिमी के नेतृत्व में वरीय पुलिस उपाधीक्षक, नगर, थानाध्यक्ष पीरबहोर एवं
विशिष्ट आसूचना इकाई के कर्मियों की टीम गठित की और उन्हें पूरे घटनाक्रम पर बारीकी से निगरानी रखने की हिदायत दी. इस क्रम में पुलिस को पता चला कि उक्त होटल के मालिक चिरंजीवी के मुहबोले पुत्र विशेष अखौरी उर्फ सन्नी को पटना के कई अपराधियों के साथ देखा जा रहा है.

महेन्द्रू  घाट के पास हुई गिरफ्तारी

इसी क्रम में टीम को गोपनीय सूचना मिली कि विशेष अखौरी कुछ अपराधियों के साथ महेन्द्रू घाट, पीरबहोर के पास किसी घटना को अंजाम देने के फिराक में है. टीम ने तत्काल कार्रवाई करते हुए सभी को घेर लिया. पूछताछ के क्रम में पता चला कि उनमें से एक मुकुल कुमार की हत्या के मकसद से उसे बुलाया गया था. अन्य पकडे गए लोगों ने अपना नाम विशेष अखौरी और पियूष कुमार बताया.

vishesh
गिरफ्तार विशेष एवं अन्य

पूछताछ में खुले कई राज

इसके बाद जांच के क्रम में पता चला कि मेजबान के मालिक चिरंजीवी कुमार चौधरी, पत्नी पूजा चौधरी एवं इनका दत्तक पुत्र विशेष अखौरी उर्फ सन्नी पूर्व में भी पत्रकारनगर थाना पटना से मेडिकल में एडमिशन करवाने  के काण्ड़ मे आरोपित रहे हैं. इसके अतिरिक्त इनके ऊपर रूपसपुर थाना में भी फर्जीवाड़ा का काण्ड़ दर्ज है. इनके द्वारा एजी कॉलोनी में अवस्थित एक भू-खण्ड़ के एवज में कई पक्षों से मोटी राशि की उगाही भी फर्जी तरीके से की गई है.

सघन पूछताछ के क्रम में इन्होंने खुलासा किया कि विशेष उर्फ सन्नी से इन्हें 3 लाख रूपये के एवज में मुकुल कुमार, लैण्ड ब्रोकर, थाना आर के नगर पटना, की हत्या की सुपारी दी गई थी. इसी घटना को अंजाम देने के उदेद्श्य से वो यहॉ आये थे. विशेष ने इन्हें बताया था कि मुकुल को किसी बहाने से यहां बुलाकर उसकी हत्या कर देनी है. विशेष उर्फ सन्नी द्वारा इन्हें बताया गया कि मुकुल द्वारा अपने पैसे को लेकर विवाद चल रहा था, इससे पीछा छुड़ाने को ही अपने माता-पिता की सहमति से इसकी हत्या करवाना चाह रहा था. इस एवज में रकम भी मेरे मॉ-पिता ही दे रहे थे. इस खुलासे पर तत्काल छापेमारी करते हुए पुलिस ने मालिक चिरंजीवी एवं पूजा चौधरी को भी गिरफ्तार कर लिया.

चिरंजीवी पर भी दर्ज है कई मामले

चिरंजीवी पर जिला नवादा में शराब संबंधी एक मामला जनवरी, 2017 में दर्ज हुआ है. साथ ही पत्रकारनगर थाना में भी इस पर काण्ड़ दर्ज हैं. उल्लेखनीय है कि विशेष उर्फ सन्नी थाना सूर्यगढ़ा जिला लखीसराय से स्कोर्पियों चोरी काण्ड़, पत्रकारनगर थाना से एटीएम फ्राड काण्ड़, रूपसपुर थाने में मारपीट काण्ड़, पत्रकारनगर थाना में फर्जीवाड़े काण्ड़ का आरोपी रह चुका है एवं पियूष कुमार पाटलीपुत्रा, बुद्धा कालोनी, शास्त्रीनगर, एस के पुरी एवं गॉधी मैदान थाना क्षेत्र के कई काण्ड़ों का वाछिंत अभियुक्त है. इनसे घटना के संबंध में सघन पूछताछ जारी है. पुलिस इनके आपराधिक इतिहास को भी खंगाला रही और इनके अन्य सहयोगियों हेतु छापेमारी जारी है.

एटीएम से पैसे उड़ाने वाले शातिर पकड़ाए

पटना पुलिस ने एक अन्य मामले में राजधानी पटना के गर्दनीबाग थाना से 2 पुरुष के अलावा एक महिला को भी गिरफ्तार किया है. इनलोगों पर एटीएम से पैसे उड़ाने का आरोप है. अजय कुमार जगनैनी ने पुलिस को शिकायत की थी कि उनके अकाउंट से 1.95 लाख रुपए उड़ा दिए गए. बुधवार देर रात पुलिस की छापेमारी में गर्दनीबाग थाना अंतर्गत महादेव कॉलोनी से प्रसेनजीत को गिरफ्तार किया गया. उन्हीं के शिकायत पर जब अनुसंधान किया गया तो प्रसेनजीत के पास से 200 से ज्यादा चेक, 128 एटीएम कार्ड, 50 से ज्यादा सरकारी स्टांप, दर्जनों सिम कार्ड, मोबाइल, प्रिंटर, कैमरा, शराब के अलावा सामानों का जखीरा बरामद हुआ है.

prasann
गिरफ्तार प्रसेनजीत

गिरफ्तार प्रसेनजीत से पूछताछ किया गया तो उसने बताया कि वह चेक की क्लोनिंग का काम भी किया करता था. पुलिस को यह शक है कि चेक की क्लोनिंग बैंक अधिकारियों के मिलीभगत से ही हो सकती है. लेकिन ऐसा कुछ भी कहना जल्दबाजी होगा. पुलिस के अनुसार मामले की जांच की जाएगी. इसके पास से बरामद चेक अलग-अलग व्यक्तियों के नाम से हैं. जो चेक क्लोनिंग के अपराध की ओर इशारा करते हैं.

प्रसेनजीत अलग-अलग 6 नामों से लोगों को धोखा देने का काम किया करता था. नाम अलग अलग धर्मों से जुड़े हुए रखा करता था. मजे की बात यह है कि अपने पिता का नाम भी उसी धर्म से मिलता-जुलता रख लेता था. पुलिस को इसके दो पासपोर्ट भी बरामद हुए हैं. करीब 100 देशों का दौरा भी कर चुके इस आरोपी के पास से कई देशों के विदेशी करेंसी बरामद किए गए हैं. इस मामले में एसएसपी ने बताया कि इस पूरा रैकेट को ध्वस्त करने में गर्दनीबाग SHO सरवीन शरद और कदमकुआँ थानाध्यक्ष गुलाम सरवर के कड़ी मेहनत शामिल है.