सोमवार को होगी अनोखी शादी, पूर्णिया में कपल लेगा ‘आठ फेरे’

पूर्णिया : हिंदू धर्म की शादियों में ‘सात फेरे’ सबसे महत्वपूर्ण रस्मों में से एक माना जाता है. हालांकि अब दुनिया के हर रस्म कुछ इस कदर बदल रहे हैं कि इस रस्म को भी बदला जा रहा है. बिहार के पूर्णिया जिले में शादी के बंधन में बंधने जा रहे एक जोड़े ने अब आठ फेरे’ लेने का मन बनाया है. यह आठवां फेरा ‘स्वच्छता’ के वचन का है जो खुले में शौच के खिलाफ और साफ-सफाई का समर्थन करने के लिए है.

जिले के बनवारीनगर इलाके के निवासी रवि रंजन (29) और उनकी मंगेतर गुड़िया (26) सोमवार, 3 जुलाई को यह अनोखी रस्म निभायेंगे. रवि दिल्ली में एक होटल में सीनियर मैनेजर हैं जबकि उनकी मंगेतर गुड़िया, गुड़गांव स्थित एक कंपनी में सॉफ्टवेर इंजीनियर हैं. रवि ने एक अंग्रेजी अखबार को बताया है कि हमने शादी के निमंत्रण पत्र पर ‘एक कदम स्वच्छता की ओर’ और ‘शौचालय बिन दुल्हन श्रृंगार अधूरा है” जैसे नारों को भी लिखवा लिया है.

mar

रंजन बताते हैं कि शादी के दौरान एक अतिरिक्त फेरे के प्रस्ताव पर उनकी मंगेतर ने भी ख़ुशी-ख़ुशी सहमति जताई है. उन्होंने कहा – शादी एक पवित्र बंधन है और इसे भी जरूर स्वच्छ होना चाहिए. समारोह के दौरान तन-मन के साथ-साथ वातावरण भी स्वच्छ रहना चाहिए. मुझे लगता है कि इस तरह की शादियों से स्वच्छता अभियान को मदद मिलेगी.

आखिर इस तरह शादी करने की प्रेरणा रवि को आई कहां से, इसपर वो बताते हैं कि गुजरात में काम करने के दौरान उनके एक मित्र ने अपनी शादी में स्वच्छता की शपथ ली थी. इसी से प्रेरणा उन्होंने यह फैसला किया है.

उधर बेटी की इस शादी से मधेपुरा जिला निवासी गुड़िया के माता-पिता काफी ख़ुश है. वही रंजन की माता रीता देवी और पिता अरुण कुमार यादव भी इस असामान्य शादी से काफी खुश है. शादी यूरोपीय संघ, जलसा भवन, पूर्णिया में सोमवार की रात होगी.

यह भी पढ़ें –
CM-DM से भी बड़े हैं बक्सर के DDC, खुद देख लीजिये न !
इस मानसून भींगने से डरें नहीं, यहां है Solution
इन चार दिग्गज नेताओं का आज है जन्मदिन, बधाइयों का लगा तांता