स्वस्थ शरीर के लिए चीनी छोड़े, गुड़ अपनाएं : डॉ. पूर्णिमा सिंह

लाइव सिटीज डेस्क: हमारा लाइफ स्टाइल नैचुरल हो, प्रकृति के करीब हो और पर्यावरण को संवर्धन करने वाला हो. गुड़ खाने से यह तीनों चीज हो जाता है. यह कहना है क्वीट शूगर कैम्पेन को अपना समर्थन देते हुए डॉ. पूर्णिमा शेखर सिंह का.

स्टूडेंट आॅक्सीजन मूवमेंट की टीम क्वीट शूगर कैम्पेन बीमारी से बचने का कैम्पेन को आगे बढ़ाने के क्रम में संयोजक विनोद सिंह आइएएस आफिसर्स वाइफ्स एसोसिएशन की अध्यक्षा डॉ. पूर्णिमा शेखर सिंह से मिले. उन्होंने कैम्पेन का समर्थन करते हुए कहा कि गुड़ नैचुरल है हाथ से बनता है लेकिन चीनी काफी जटिल रासायनिक प्रक्रिया से बनता है जो स्वास्थ्य के लिए हानिकार है. जो शरीर सहित पर्यावरण को भी नुकसान पहुंचाता है.

कैम्पेन के बातचीत के दौरान डॉ. सिंह ने आॅक्सीजन मूवमेंट के संयोजक को गुड़ की मिठास वाली खस की शर्बत पिलाई. कहा कि मीठा खाईए और मीठा बोलिए ही हमारी जीवनशैली होनी चाहिए.जब हम मीठा में नैचुरल गुड़, मधु और मिश्री को अपनाएंगे और चीनी रूपी जहर का त्याग करेंगे तब ही ऐसा संभव होगा.

पटना में पहली बार 1.5 व 2.5 BHK का फ्लैट, निर्माण तेजी में, कीमत 9 लाख से स्‍टार्ट

क्वीट शूगर कैम्पेन को पूरा समर्थन देने के लिए मूवमेंट के संयोजक ने डॉ. सिंह के प्रति धन्यवाद व्यक्त किया. साथ ही उनसे एसोसिएशन के माध्यम से कैम्पेन को आगे बढ़ाने का आग्रह किया.

यह भी पढ़ें-
IAS चंचल कुमार ने भी चीनी को कहा Bye—Bye
अब IAS ब्रजेश मेहरोत्रा भी कभी नहीं खायेंगे चीनी
डॉन बास्को स्कूल के डायरेक्टर ने कहा, चीनी है मीठा जहर, खाना छोड़ दीजिए