शिड्यूल तैयारः बड़े पैमाने पर बहाली जल्द, हाईस्कूल और +2 में भरे जाएंगे शिक्षक

पटनाः राज्य के माध्यमिक और उच्च माध्यमिक स्कूलों में खाली पड़े पदों पर हाईस्कूल व प्लसटू शिक्षकों की नियुक्ति की प्रक्रिया जल्द शुरू होगी. चुनाव आचार संहिता के कारण नियोजन प्रक्रिया रुकी थी. पर माध्यमिक शिक्षा निदेशालय ने शिड्यूल का प्रस्ताव बनाकर प्रधान सचिव के अनुमोदन के बाद शिक्षा मंत्री डॉ. अशोक चौधरी के पास स्वीकृति के लिए भेजा है. मंत्री की स्वीकृति मिलते ही अगले सप्ताह से नियोजन और नियुक्ति पत्र बांटे जाने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी.

जानकारी के मुताबिक पहले माध्यमिक निदेशालय ने 16 जून से नियोजन प्रक्रिया शुरू होने का प्रस्ताव आगे बढ़ाया था. लेकिन मंत्री सेल तक यह प्रस्ताव नियोजन शिड्यूल शुरू होने की तिथि पार होने के बाद पहुंचा. अब बुधवार को नया तथा संशोधित शिड्यूल शिक्षा मंत्री के विचारार्थ रखा जाएगा. शिक्षा मंत्री ने निदेशालय को निर्देश दिया है कि 31 दिसम्बर 2015 तक इन विद्यालयों में रिक्त पदों की गणना करते हुए उनपर शिक्षक नियुक्त किये जाएं. हालांकि रिक्त पदों की गणना भी दिसम्बर 2015 की रिक्ति के आधार पर ही हुई है.

गौरतलब है कि राज्य के करीब 5000 हाईस्कूल व इंटर स्कूलों में करीब 20 हजार रिक्त पदों पर पांचवें चरण के तहत शिक्षक नियोजन की प्रक्रिया प्रारंभ हुई थी. माध्यमिक शिक्षकों के 12 हजार 200 और उच्च माध्यमिक शिक्षकों के 8 हजार रिक्तियों के विरुद्ध नियोजन आरंभ हुआ.

Ashok-Chaudhary.jpg

जनवरी में ज्यादातर जिलों में शिक्षकों की नियुक्ति की प्रक्रिया संचालित नहीं हो पाने के बाद शिक्षा विभाग ने मार्च में दोबारा नियोजन शिड्यूल जारी किया. दोनों बार को मिलाकर मात्र 2400 शिक्षक नियुक्त किये जा सके हैं. इस तरह अब भी पांचवें चरण की रिक्ति के विरुद्ध 88 फीसदी पद रिक्त हैं. खाली पड़े इन 17 हजार 800 पदों पर नियुक्ति के लिए तीसरी बार शिड्यूल जारी किया जा रहा है.

एक बार फिर पुराने ढर्रे पर ही शिक्षा विभाग योग्य शिक्षक अभ्यर्थियों के बीच नियोजन पत्र बांटने की तैयारी में है. पिछले दो बार का अनुभव बताता है कि लाख कोशिश के बावजूद 18 हजार रिक्त पद में से 10 हजार से अधिक खाली ही रह जाने के आसार हैं. इसकी वजह नियोजन इकाइयों की सुस्ती, नियोजन की विकेंद्रित व्यवस्था और दूर-दराज तथा गांव देहात के स्कूलों में न जाने की चाह होगी.

यह भी पढ़ें-

लखनऊ में नरेंद्र मोदी, तो हाजीपुर में रामविलास पासवान ने किया योग
गांधी सेतु पर लगी No Entry, पीपा पुल भी आज से बंद, अब ऐसे करें गंगा पार