हर्षोल्लास से मनाया जा रहा शब-ए-बारात, लालू-नीतीश सहित अन्य नेताओं ने दी शुभकामनाएं

shab.collage

पटना : राजधानी सहित समूचे सूबे में गुरुवार को शब-ए-बारात पारंपरिक तरीके से धूमधाम के साथ हर्षोल्लास और उमंग के बीच मनाया गया. तमाम मस्जिदों और कब्रिस्तानो को आकर्षक ढंग स सजाया गया था. मस्जिदों और कब्रिस्तानों में रात भर अपने पूर्वजो की मजारो पर गुनाहों की माफ़ी मगफिरत की दुआ मांगने के लिए भारी संख्या में मुस्लिम समुदाय की भीड़ जुटी रही. सभी कब्रिस्तानों को मुस्लिम समुदाय के लोगो ने साफ-सफाई के बाद सजाया था. कब्रों और मजारों पर अगरबत्ती और मोमबत्तियां जलाकर पूर्वजो की याद में आंसू बहाते रहे.



लोगों ने अल्लाह ताला से अपने पूर्वजो को जन्नत नसीब अता करने की घंटों दुआएं मांगी. इस दौरान लोग कब्रगाहो और विभिन्न मजारो पर रोते हुए अल्लाह ताला से दुआएं मांगते देखे गये. वहां से लौटने के पश्चात मस्जिदों में अल्लाह की इबादत की गई. वहीँ तमाम मुस्लिम इलाकों में घरों में रात भर छोट-बड़े, बुजुर्ग जागकर कुरान शरीफ, कलमा पढ़ते देखे गए और महिलाएं कुरान शरीफ की तिलावत करती रही. इस अवसर पर घरो में चने का हलुआ, कतली और विशेष तरह के व्यंजन बनाये गये थे.

SKP_4378

फुलवारीशरीफ में हुई शब-ए-बारात की सामुहिक विशेष नमाज

फुलवारी शरीफ के खानकाह, गुलिस्तान मुहल्ला, शाही संगी मस्जिद, लाल मियां की दरगाह से लेकर समनपूरा, शेखपूरा सहित तमाम मुस्लिम इलाकों में शब-ए-बारात का पवित्र त्योहार मनाया जा रहा है. यह गुरुवार रात से लेकर शुक्रवार सुबह तक हर्षोल्लास और उमंग के साथ मनाया जायेगा. शब ए बारात की  पूरी रात दुआ और इबादत में ही गुजरी. रातभर समुदाय के लोगों का कब्रिस्तानों में आना-जाना लगा रहने से शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों में  हर्षोल्लास का माहौल बना रहा.

shav e barat (9)

शब-ए-बारात की रात को शब-ए-कद्र की रात भी कहा जाता है. इसकी शाम मगरीब की नमाज के बाद शब-ए-बारात की विशेष नमाज भी तमाम मुस्लिम इलाकों की विभिन्न मज्सिदो में अदा की गई. इसमें बुरी आफतों से दूरी रहे एवं जीवन में तरक्की बनी रहे ऐसी दुआ की गई. इससे पहले पूरा दिन शब-ए-बारात को लेकर खुदा की इबादत में ही गुजरा. दूसरे दिन मुस्लिम समुदाय के कई लोग एक दिन का विशेष रोजा भी रखेंगे.

DSC_0479

पटना सिटी में भी चादरपोशी करने कब्रिस्तान पहुंचे लोग

350 वर्ष पुरानी ख़ानक़ाह एमादिया के सज्जादानशीन शाह मिसबाहूल हक एमादी ने कहा कि रमज़ान अल्लाह का महीना हैं और शाबान अल्लाह के प्यारे रसूल मोहम्मद सअव का रमज़ान में एक महीने रोज़ा और इबादत किया जाता है. शबे बारात के दिन और दूसरे दिन रोज़ा रखा जाता हैं.

shab

 

उन्होने बताया कि शब-ए-बारात की रात में जाग कर लोग अल्लाह की इबादत करेगे, अल्लाह से तरक्की अमन–चैन सफलता स्वास्थ्य, रोजगार, औलाद, इंसानियत और देश दुनिया के लिए दुआ मांगी जाएगी. लोग अपने परिजन के कब्र पर जा कर अपने लिए तथा उनके लिए दुआ मांगेगें और वही शबे-बारात के मोके पर ख़ानक़ाह एमादिया मंगल तालाब पटना सिटी मे फजर (सुबह के नमाज के बाद) विशेष दुआ का आयोजन किया जाता है.

shav e barat (10)

 

लालू-नीतीश सहित सभी नेताओं ने दी शुभकामनाएं

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने आज शब-ए-बारात के पवित्र त्योहार के अवसर पर देश एवम राज्यवासियों को शुभकामनाएं दी है तथा कहा कि शब-ए-बारात का त्योहार मुस्लिम भाई बहनों के लिये बड़े महत्व का त्योहार है. देश, दुनियाँ मे अमन शान्ति और तमाम इंसानी बिरादरी के भलाई की दुआ करते हैं. मस्जिदों, दरगाहों और कब्रिस्तानों मे जा कर खुदा के हुजूर मे दुआ करते हैं. मेरी दुआ है कि खुदा आपकी दुआओं को कबूल करे, मकबूल करे. बे-शुमार रहमत और बरकत से हम सब को नवाजे. हम सब के बीच मेल मुहब्बत बढ़ता रहे. हमारा देश और समाज प्रगति की ऊँचाईयों को छुए.

राजद प्रमुख के अलावा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव, स्वास्थ मंत्री तेज प्रताप यादव व राज्यसभा सांसद मीसा भारती ने भी शब-ए-बारात की शुभकामनायें राज्यवासियों को दी. उन्होंने कहा कि इस महान त्योहार को मेल -जोल और भाईचारा के साथ मनायें. अपनी दुआओं मे हम सब को भी शामिल रखें.

जुलकर नैन, नियाज आलम और अजीत की रिपोर्ट