नैंसी के हत्यारे जल्द होंगे अरेस्ट, बन गई SIT, शुरु हुई जांच

SIT

पटना/मधुबनी : पिछले दिनों में बिहार को झकझोर कर रख देनेवाले मधुबनी के नैंसी झा हत्याकांड की जांच के लिए विशेष जांच दल (SIT) का गठन हो गया है. मासूम नैंसी हत्याकांड की गुत्थियों को सुलझाने के लिए जनभावना एवं राजनेताओं की मांग के अनुरुप वरीय पुलिस पदाधिकारी ने एसआईटी का गठन कर दिया है. अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी उमेश्वर चौधरी ने उपरोक्त जानकारी लाईव सिटिज को दी है. झंझारपुर डीएसपी निधि रानी की अगुवाई में गठित विशेष जांच दल ने अपना काम भी शुरु कर दिया है.

मिल रही जानकारी के अनुसार गुरुवार शाम दरभंगा रेंज के पुलिस उपमहानिरीक्षक बिनोद कुमार ने पुलिस के अन्य पदाधिकारियों के संग घटना स्थल का दौरा किया. मौके पर झंझारपुर की डीएसपी निधि रानी, फुलपरास के डीएसपी उमेश्वर चौधरी एवं अन्य पुलिस पदाधिकारी भी उनके साथ घटनास्थल पर पहुंचे थे. पुलिस दल ने पीड़ित परिवार से मिलकर उन्हें कांड के निष्पक्ष एवं पारदर्शी उद्भेदन तथा हत्याभियुक्तों को शीघ्र गिरफ्तार किये जाने का भरोसा दिलाया.

NANCY-SIT

पुलिस दल ने इस दौरान मृतका के परिजनों से बात कर घटनाक्रम की जानकारी भी ली. उसके बाद लाश के बरामद होने वाले स्थल तिलयुगा नदी के ईलाकों का निरीक्षण भी किया गया.

एसिड अटैक या रेप की बात से DSP का इनकार

इससे पहले अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी उमेश्वर चौधरी ने बताया था कि दर्ज प्राथमिकी (48/17, अंधरामठ थाना) में नामजद दो अभियुक्तों ग्रामीण पवन झा एवं लालू झा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. उन्होंने बताया कि गिरफ्तार व्यक्तियों के साथ मृतका के परिवार की पुरानी दुश्मनी थी जिसे आरोपियों ने स्वीकार भी किया है.हालांकि चौधरी ने नैंसी पर किसी एसिड अटैक अथवा उसके साथ रेप की घटना से इनकार किया था.

ज्ञात हो कि विगत 25 मई को अनुमंडल के महादेवमठ गांव से रविन्द्र नारायण झा की पुत्री बारह वर्षीया नैन्सी का अपहरण कर लिया गया था. जिसकी लाश 27 मई की रात्रि करीब आठ बजे तिलयुगा नदी के किनारे से बरामद हुई थी.

बीरेंद्र दत्ता की रिपोर्ट

इसे भी पढ़ें –

नैंसी हत्या मामले में दुष्कर्म या एसिड अटैक की बात को डीएसपी ने किया खारिज

मधुबनी में फिर 10 लाख की लूट, पिस्टल सटा कर छीन लिया बैग

भीतर से सुलग रहा मधुबनी , बोल रहा DM-SP हाय-हाय