चंडीगढ़ की जेल से ठेली जा रही है बिहार में शराब, शामिल हैं कई सफेदपोश

पटना (नियाज़ आलम): पूर्ण शराबबंदी के बाद राज्य में शराब की तस्करी को लेकर पुलिस बेहद सख्त रुख अपनाए हुए है. इस मामले में कई लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है. लेकिन शराब के धंधेबाज अलग अलग तरीकों से शराब की तस्करी में जुटे हुए हैं. पटना पुलिस के मुखिया मनु महाराज ने तस्करी के इस काले नेटवर्क की कमर तोड़ने का मन बना लिया है. एसएसपी मनु महाराज के निर्देश पर एएसपी अभियान राकेश दुबे ने ऑपरेशन विश्वास के जरिए शराब के काले कारोबार को काफी नुकसान पहुंचाया है.

नए तेवर में आॅपरेशन विश्वास

आॅपरेशन विश्वास को नई धार देने का फैसला अब एसएसपी मनु महाराज ने कर लिया है. मनु महाराज ने संकेत दिया है कि शराब के धंधे में कई दिग्गज और करोड़पति शामिल हैं, जिनके बारे में गोपनीय जांच के बाद पुख्ता सबूत पुलिस के पास हैं. जल्द ही उनके नामों का खुलासा किया जाएगा. पुलिस मामले की गोपनीय जांच में जुटी हुई है. एसएसपी ने इस संबंध में सभी थानाध्यक्षों को भी अलर्ट कर दिया है.

ऐसे होता था काला कारोबार

दरअसल गुरुवार को फतुहा में हरियाणा से लाकर बिहार में शराब सप्लाई करने वाले एक गिरोह के 6 सदस्यों को पुलिस ने शराब समेत दबोच लिया था. सप्लायर ट्रक से शराब लाकर यहां ट्रैक्टर और पिकअप वैन से सप्लाई किया करते थे. पुलिस को शक न हो इसके लिए वैन पर डाक पार्सल भी लिख दिया गया था. हालांकि एसएसपी मनु महाराज को मिली गुप्त सूचना के आधार पर त्वरित कार्रवाई करते हुए पुलिस ने फतुहा के जेठुली से 20,420 बोतल शराब के साथ 4 आरोपियों को दबोच लिया. उनकी निशानदेही पर दो अन्य आरोपी भी पुलिस के हत्थे चढ़ गए.

 

जेल से होता है खेल

आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि इस धंधे में कई दिग्गज और करोड़पति शामिल हैं. सभी तस्कर हरियाणा के पानीपत और चंडीगढ़ के हैं. एसएसपी के मुताबिक संत गरीबदास ट्रांसपोर्ट, हरियाणा का मालिक प्रवीण कुमार शराब सप्लायर और माफिया है. जबकि चंडीगढ़ की जेल में हत्या के जुर्म में बंद रणबीर सिंह शराब के काले खेल का असली सरगना है. वह जेल से ही धंधा चला रहा है. बता दें कि पटना पुलिस ने अपना व्हाट्स-अप नंबर 9939919191 भी जारी कर रखा है, जिस पर कोई भी नागरिक किसी भी संदिग्ध गतिविधि की सूचना दे सकता है.

यह भी पढ़ें:-

वाहन पर डाक पार्सल लिख करता था शराब की सप्लाई, पकड़ा गया