CUSB के 3 स्टूडेंट्स ने पहले अटेम्प्ट में ही क्लियर किया UGC-NET

पटना : दक्षिण बिहार केन्द्रीय विश्वविद्यालय (सीयूएसबी) के मनोविज्ञान विभाग के करंट बैच के तीन स्टूडेंट्स ने अपने प्रथम प्रयास में ही यूजीसी द्वारा आयोजित नेट- जेआरएफ की परीक्षा में सफलता अर्जित की है. मनोविज्ञान के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर तेज बहादुर सिंह ने बताया कि जया शुक्ला ने यूजीसी-नेट- जेआरएफ क्वालीफाई किया है, वहीँ दो अन्य छात्र नुपूर श्री और प्रभात रंजन ने यूजीसी– नेट में सफलता प्राप्त की है.

परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के बाद जया शुक्ल कहती हैं कि सीयूएसबी का सिलेबस और प्रोफेसर की मेहनत का परिणाम है यह. पहले दिन से आखिरी दिन तक सर ने हमलोगों के साथ पढाई की. जितनी मेहनत हमलोग करते थे उतना ही हमलोगों के साथ हमारे प्रोफेसर भी करते थे.

लेफ्ट से नुपूर, जया और प्रभात

प्रोफेसर तेज बहादुर ने बताया कि पूर्व में भी विभाग के अन्य छात्र अदिति ठाकुर बिश्नोई (नेट- जेआरएफ) और पारुल कुमारी (यूजीसी– नेट) ने भी उपरोक्त परीक्षा उत्तीर्ण की है. पारुल कुमारी एवं संस्थान की अन्य छात्रा अपर्णा रानी वर्तमान में सीआईपी एवं रिनपास जैसे उच्च शिक्षण संस्थान में अध्ययनरत हैं. एस मौके पर कुलपति प्रोफेसर हरीश चन्द्र सिंह राठौर ने सफल छात्र—छात्राओं को बधाई दी है और उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की है.

वहीँ प्रोफेसर तेज बहादुर सिंह के साथ-साथ विभाग के अन्य प्राध्यापकों डॉ. नरसिंह कुमार, डॉ. अम्बिका दास भारती, डॉ. मंगलेश कुमार मंगलम एवं डॉ. चेतना जायसवाल ने छात्रों की उपलब्धि पर संतोष प्रकट किया और उनकी भरपूर सराहना की है.