गर्भवती महिला के साथ अत्याचार, 2 बच्चों समेत जेठ ने घर में ही बना डाला बंधक

लाइव सिटीज डेस्क : समस्तीपुर में बार-बार मानवता शर्मसार हो रही है. हैवानियत पांव पसारता जा रहा है. जहां एक ओर नौवीं की दलित छात्रा के साथ हैवानों ने रोंगटे खड़े कर दने वाले वारदात को अंजाम दिया वहीं आज एक बार फिर समस्तीपुर से इंसानियत को कलंकित करते हुए एक गर्भवती महिला के साथ अत्याचार किये जाने का मामला प्रकाश में आया. 

मामला समस्तीपुर जिला के आधारपुर गांव का है. मिली जानकारी के अनुसार एक गर्भवती महिला को उसके जेठ ने एक सप्ताह से उसी के घर में बंधक बना रखा था. सिर्फ यही नहीं पीड़ित महिला के साथ-साथ उसके दो मासूम बच्चों को भी बंधक बना डाला. 

7 दिनों तक बंद रहने वाली पीड़िता का नाम अजमती खातून है और उसके बच्चे का नाम गुलाब शहनाज और बेटा तौसीफ रजा है. पीड़िता का पति मुंबई में रहता है. जब वह मुंबई से लौटा तो उसे पता चला कि उसके पड़ोसी(बड़े भाई) ने उसके बीवी और बच्चों को बंधक बना रखा है.

https://youtu.be/xr8bQeCm5r0

तो उसने अपने परिवार को उसके चंगुल से आजाद कराने के लिए मीडिया और पुलिस का सहारा लिया. मीडिया में खबर आने के बाद मुफ्फसिल थाना से पुलिस बल मौके पर पहुँच उसके परिवार को आजाद कराया.

पुलिस ने ताला तोड़ कर सभी को आजाद कराने के बाद अपने साथ समस्तीपुर ले गई. पुलिस ने घटना के संबंध में कहा कि यह मामला घरेलु लगता है. घर और जमीन से जुड़ा यह विवाद मालूम पड़ता है. फिलहाल बयान दर्ज करने और अनुसंधान के बाद ही स्पष्ट रूप से बताया जाएगा.

यह भी पढ़ें-  हैवानियतः समस्तीपुर में 9वीं की छात्रा को जिन्दा जलाया, पटना में मौत