ATM का हर भेद जानता था सुरेश-कुणाल, अभी तो करोड़ों उड़ाना था

atm-cash

पटना : पटना पुलिस ने सूचना मिलने के 24 घंटे के भीतर गर्दनीबाग के HDFC बैंक के ATM से 19 लाख 47 हजार रुपयों की चोरी करने वाले सुरेश और कुणाल को गिरफ्तार कर लिया है. चोरी के 17 लाख 45 हजार रुपयों की जब्ती भी की गई है. आशंका के अनुरूप सुरेश बैंक के एटीएम में रुपयों की फिलिंग करने वाली एजेंसी CMS का स्टाफ निकला है. वह दो महीने पहले नौकरी से निकाला गया था. फिर उसने वारदात की प्लानिंग शुरू कर दी थी. वह एटीएम का हर भेद जानता था. आगे करोड़ों उड़ा देता. लेकिन पहले ही क्राइम में पटना के एसएसपी मनु महाराज की टीम ने धर दबोचा.

गर्दनीबाग पुलिस को चोरी की सूचना मिलने के बाद एसएसपी मनु महाराज ने सिटी एसपी चंदन कुशवाहा और सचिवालय के DSP को मामले को देखने को कहा था. छापा टीम गर्दनीबाग के इंस्पेक्टर के नेतृत्व में बनी थी. अनुसंधान में पाया गया कि पुलिस को सूचना देने में बहुत देर की गई. चोरी तो 9-10 जून की रात में ही हो गई थी.

atm-cash

यह प्रथमदृष्टया ही स्पष्ट हो गया था कि चोर एटीएम का सब भेद जानता है, क्योंकि यह चोरी बिना एटीएम को तोड़े की गई थी. ऐसा तभी संभव था जब चोर एटीएम का पासवर्ड व अन्य सीक्रेट कोड को जाने. पुलिस ने सबसे पहले एटीएम के भीतर लगे CCTV को खंगाला. गर्दनीबाग पुलिस थाना के सब-इंस्पेक्टर डॉ. नरेन्द्र प्रसाद की नजर दो लोगों पर ठहर गई. फिर एटीएम में रुपयों की फिलिंग करने वाली एजेंसी CMS के अधिकारियों को बुलाया गया. उन्हें CCTV में दिखे संदेही को पहचानने को कहा गया.

हुलिया एजेंसी के पुराने स्टाफ सुरेश चौधरी से मिलान खा रहा था. छापा टीम ने सुरेश के मनेर थाना के शेरपुर गांव में छापा मारा. वह पकड़ा गया. पुलिस ने अपने स्टाइल में पूछताछ की, तो वह टूट गया. उसने अपने साथ इस क्राइम में शेरपुर गांव के ही कुणाल कुमार को शामिल बताया. पुलिस ने कुणाल को भी अरेस्ट कर लिया. फिर इसके बाद चोरी के 17 लाख 45 हजार रुपयों की जब्ती हो गई.

यह भी पढ़ें –
बिना मशीन खोले 19 लाख निगल गये चोर,शक के घेरे में एजेंसी