Exclusive : पहली बार बुलेटप्रूफ पोडियम से भाषण, क्‍या दरभंगा में बड़ा Threat था योगी के लिए?

yogi

पटना : याद करने वाले लोग याद नहीं कर पा रहे. बिहार में शायद पहला उदाहरण है. किसी चीफ मिनिस्‍टर के संबोधन के लिए कभी पहले बुलेटप्रूफ पोडियम लगा हो,यह किसी के स्‍मरण में नहीं है. पर,आज दरभंगा आये यूपी के मुख्‍य मंत्री योगी आदित्‍यनाथ के संबोधन के लिए बुलेटप्रूफ पोडियम लगाया गया. ऐसे पोडियम सामान्‍य परिस्थिति में नहीं लगाये जाते,सो बहस शुरु हो चुकी है.

प्रधान मंत्री राजीव गांधी के समय तक ऐसे बुलेटप्रूफ पोडियम तो इंडिया में आये ही नहीं थे. वे मारे गये. बाद में,बुलेटप्रूफ पोडियम देखे जाने लगे,लेकिन प्रयोग बहुत कम दिखा. जनसभाओं में तो बिलकुल नहीं. हां,स्‍वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस के मौके पर लालकिला की प्राचीर से संबोधन में ऐसे बुलेटप्रूफ पोडियम के पीछे से प्रधान मंत्री और राष्‍ट्रपति को जरुर देखा गया है. तब,खतरा सर्वोच्‍च स्‍तर पर होता है. हर साल अलर्ट जारी होता है कि आतंकी खलल डालने को देश में घुसे हुए हैं. जम्‍मू-कश्‍मीर में ऐसे पोडियम वीवीआईपी के कार्यक्रम में लगाये जाते रहे हैं.

yogi

पर,आज दरभंगा में योगी आदित्‍यनाथ के साथ ऐसा क्‍या था. आखिर कौन-सा खतरा था. क्‍या बिहार-यूपी या देश की किसी खुफिया एजेंसी का विशेष अलर्ट था. वजह कि बुलेटप्रूफ पोडियम बगैर किसी बड़े थ्रेट के लगाये नहीं जाते. बताया जा रहा है कि योगी आदित्‍यनाथ को प्रदत्‍त विशेष सुरक्षा दस्‍ते की सिफारिश पर यह बुलेटप्रूफ पोडियम लगा था. विशेष सुरक्षा दस्‍ता कई दिनों से दरभंगा में कैंप कर रहा था.

ध्‍यान रखने की जरुरत है कि पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान की सभाओं को भी अब तक नरेन्‍द्र मोदी खुले में संबोधित करते रहे हैं. मोदी देश में आतंकियों के निशाने पर सबसे अधिक हैं. पटना के गांधी मैदान का सीरियल बम ब्‍लास्‍ट तो सबों को याद है. आज योगी के लिए की गई विशेष व्‍यवस्‍था यह सोचने को भी मजबूर कर रही है कि क्‍या योगी आदित्‍यनाथ पर खतरा बहुत अधिक बढ़ा है.

वैसे कुछ लोग यह भी कह रहे हैं कि दरभंगा के रिकार्ड को देखते हुए बुलेटप्रूफ पोडियम की सुरक्षा लेनी पड़ी है. वरना योगी तो यूपी में भी खुले मंच से बोलते रहे हैं. दरभंगा को कभी इंडियन मुजाहिद्दीन का बड़ा ठिकान माना जाता था. इंडियन मुजाहिद्दीन का चीफ कई सालों तक इधर रहा था और ढ़ेर सारे आतंकी पैदा कर दिये थे. तब देश भर में होने वाले धमाकों के तुरंत बाद कह दिया जाता था कि इसके पीछे इंडियन मुजाहिद्दीन का बिहार मॉड्यूल है.

योगी के बुलेटप्रूफ पोडियम पर राजनैतिक बहस भी छिड़ गई है. लालू प्रसाद के बेटे और हेल्‍थ मिनिस्‍टर तेज प्रताप यादव ने ट्वीट करते हुए कहा है – ‘बिहार के प्रति गलत धारणा रखने वाले लंबी-लंबी हांक रहे हैं. नहीं तो बुलेटप्रूफ मंच क्‍यों ? ‘

यह भी पढ़ें –
मिथिला में योगी की हुंकार : कहा- बेमेल गठजोड़ से कैसे बढ़ेगा बिहार
‘योगी’ के दरभंगा पहुंचने से पहले ही गिर गया पंडाल, बांस-बल्ला बटोरते दिखे नेता
सीएम नीतीश की ‘योगी’ को नसीहत, कहा- हाथ डोलाते मत आइएगा बिहार