निगरानी DSP बनकर लोगों को धमकी देता था एएसआई, रूपये भी ठग लिए

live crime

पटना : एक एएसआई द्वारा खुद को निगरानी डीएसपी बताकर लोगों को धमकाने का मामला सामने आया है. आरोपी एएसआई का नाम हंस कुमार है जो फिलहाल दरभंगा में पदस्थापित है. निगरानी विभाग ने उसके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली है. विभाग ने यह कार्रवाई राजगीर विधायक रवि ज्योति की अनुशंसा पर की है.

मिल रही जानकारी के अनुसार राजगीर विधायक रवि ज्योति को कुछ स्थानीय लोगों ने लिखित शिकायत दी थी कि हंस कुमार नामक एक व्यक्ति खुद को निगरानी का डीएसपी बताकर उन्हें धमकाता है. धमकीस्वरुप वह लोगों को कहता है कि तुम्हारे खिलाफ शिकायत है. कार्रवाई होगी तो जेल चले जाओगे. मुझे रूपये दो, तुम्हारा केस रफा-दफा करा देंगे. कई लोगों ने यह भी शिकायत की कि इस धमकी की वजह से आरोपी ने उनसे रूपये की भी ठगी कर ली है.

live crime

आम लोगों की इस शिकायत के बाद विधायक की अनुशंसा पर कार्रवाई करते हुए निगरानी विभाग ने टीम गठित कर मामले की जांच की. कई लोगों ने जांच टीम के पास उपस्थित होकर इस धोखाधड़ी की गवाही दी है. इन शिकायतों पर निगरानी ने जब जांच शुरू की तो पता चला कि आरोपी हंस कुमार पूर्व में निगरानी विभाग में सिपाही रहा था. एएसआई में प्रोन्नति मिलने के बाद वह एटीएस में चला गया था. फिलहाल एएसआई हंस कुमार दरभंगा में पदस्थापित है.

गौरतलब है कि बीते सालों में निगरानी विभाग ने कार्रवाई करते हुये सबसे अधिक पुलिस से जुड़े लोगों को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया था. वर्तमान में भी आये दिनों निगरानी की टीम भ्रष्ट लोगों को रिश्वत के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेज रहीं है.

जिससे भ्रष्ट लोकसेवकों में खौफ का आलम है.