Republic Day 2021 Bihar : बिहार एटीएस पहली बार गणतंत्र दिवस परेड में हुई शामिल, बेस्ट टर्न आउट में बनी टॉपर

लाइव सिटीज, राजेश ठाकुर : गणतंत्र दिवस पर पटना के ऐतिहासिक मैदान में आयोजित राजकीय समारोह में इतिहास में पहली बार शामिल हुआ और पहली ही बार में टॉपर बन गया. यह कमाल कर दिखाया है बिहार एटीएस ने. एटीएस की स्वाट टीम को पहली बार में ही यह उपलब्धि हासिल हुई है. प्रोफेशनल श्रेणी में बेस्‍ट टर्न आउट का पुरस्‍कार एटीएस की स्वाट टीम को मिला है. इसके लिए टीम को विभागीय अधिकारियों ने बधाई दी है.

गणतंत्र दिवस के राजकीय समारोह में हुई सामूहिक परेड में शामिल स्वाट टीम के जवानों के कदमताल देखते ही बन रहा था. जवानों के टर्न आउट के दौरान कदमों के बीच का तारतम्य का तो हर कोई दीवाना हो गया था. टीवी पर हो रहे लाइव प्रसारण में भी लोग टीम में शामिल जवानों के कदमताल को देख मुग्ध थे. बता दें कि 30 जुलाई 2013 को गठित बिहार एटीएस की टीम अपने स्थापना काल के बाद पहली बार आज गणतंत्र दिवस की सामूहिक परेड में शामिल हुई.



दरअसल, पटना के गांधी मैदान में मंगलवार को आयोजित गणतंत्र दिवस समारोह में इस बार 18 से अधिक टुकड़ियों ने परेड में अपना करतब दिखाया. हर टीम अपना बेस्ट प्रदर्शन कर रही थी. टीमों में बिहार एटीएस की स्वाट टीम के अलावा सीआरपीएफ, बिहार रेजिमेंट दानापुर, सशस्त्र सैन्य बल, एसएसबी, आइटीबीपी, एसटीएफ, बीएमपी वन, बीएमपी महिला, जिला सशस्त्र बल, जिला सशस्त्र बल महिला, होमगार्ड शहरी, होमगार्ड शहरी महिला, एनसीसी आर्मी ब्वॉयज, एनसीसी आर्मी गर्ल्स, एनसीसी एयरफोर्स, एनसीसी नेवी, श्वान दस्ता, फायर बिग्रेड आदि की टीमें भी प्रमुख रूप से शामिल रहीं.

आतंकवादियों के क्रियाकलापों पर नियंत्रण करने के लिए बिहार में आतंकवाद निरोधक दस्ता यानी एटीएस की स्थापना की गई थी. बिहार एटीएस की स्वाट टीम को
वर्ल्ड लेवल की ट्रेनिंग मिली हुई है. यह कमांडो हेलीकॉप्टर द्वारा स्लाइडरिंग के माध्मय से अर्बन ऑपरेशन करने में पारंगत है. इतना ही नहीं, स्वाट टीम के जवान किसी भी बिल्डिंग में रस्सी के माध्यम से प्रवेश कर आतंकवादियों से निपटने के साथ ही बस/ रूम इंटरवेंसन/होस्टेज रेस्क्यू करने भी परिपूर्ण है.

एटीएस के अनुसार, इसके जवान आतंकवादी, जाली नोट एवं आग्नेयास्त्र के धंधेबाजों को गिरफ्तार करने तथा राष्ट्रद्रोही तत्वों द्वारा उपयोग किए जाने वाले सभी प्रकार आइईडी को निष्क्रिय करने में सक्षम हैं. स्वाट टीम एनएसजी के तर्ज पर अत्याधुनिक हथियारों से लैस है. साथ ही बिहार में किसी भी आतंकी घटना से निपटने के लिए 24 घंटे रेडी रहती है.