प्रतिबंध के बावजूद कांवर लेकर मंदिर पहुंचे JDU विधायक, मंदिर का गेट नहीं खोलने पर हुए नाराज

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: अपने कारनामों और बिगड़े बोल के कारण हमेशा से सुर्खियों में रहने वाले गोपालपुर से जदयू विधायक गोपाल मंडल एक बार फिर विवादों में घिरते दिख रहे हैं. जदयू विधायक अपनी ही सरकार के द्वारा संक्रमण से बचाव को लेकर जारी किए गए दिशा-निर्देश को ठेंगा दिखाते नजर आए.

दरअसल विधायक जी अपने कुछ सहयोगियों के साथ भागलपुर के जहाज घाट से गंगा स्नान कर कांवर में जल भरकर पैदल भोलेनाथ का जयकारा लगाते हुए जल चढ़ाने बुढ़ानाथ मंदिर पहुंचे. इस दौरान जिला प्रशासन द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार बुढ़ानाथ मंदिर का मुख्य दरवाजा बंद मिला, जिसके बाद विधायक जी मंदिर प्रबंधन के लोगों को अपना दबंगई दिखाना शुरू किए और मुख्य दरवाजा खोलने को कहा. गेट नहीं खोलने पर विधायक नाराज हो गये. उन्होंने दरवाजा को काफी देर तक झकझोरा. इसके बावजूद गेट नहीं खोला गया. इससे नाराज विधायक पास में स्थित शिवलिंग पर जल चढ़ाकर लौट गये.


विधायक ने बताया कि मंदिर में चोरी-छिपे पूजा करायी जाती है. विधायक पूजा करने आते हैं तो रोक दिया जाता है. जमादार रौब में बात करता है. अगर पूजा में नहीं होते तो उसका तैशगिरी ही निकाल देते. उन्होंने बताया कि उन्हें उम्मीद थी कि उनके आने से मंदिर खुल जायेगा. स्थानीय दारोगा से भी बात की गयी थी तो उन्होंने कहा कि वह मंदिर खुलवा देंगे. मंदिर प्रबंधक को भी कहा था कि उसे अंदर जाने दें. वह शिवलिंग पर जल नहीं चढ़ायेंगे. फिर भी विधायक को रोका गया.