मुंगेर के पूर्व सांसद धनराज सिंह नहीं रहे, उद्योगपति के रूप में भी थी पहचान

लाइव सिटीज डेस्क(सुनील जख्मी) : मुंगेर के पूर्व सांसद धनराज सिंह अब इस दुनिया में नहीं रहे. उन्होंने अंतिम सांस गुरुवार की रात पटना स्थित पारस अस्पताल में ली. वे 72 साल के थे. धनराज सिंह एक बार मुंगेर से सांसद रहे हैं. मूल रूप से वे जमुई के रहने वाले थे. पटना में पुनाईचक के मोहनपुर में उनका आवास है.

उनका जन्म पिछड़े इलाके जमुई जिला के बरहट में हुआ था. उनकी शिक्षा देव सुंदरी महाविद्यालय (DSM College) जहाँ से हुई. पिरहिण्डा में धनराज सिंह महाविद्यालय की स्थापना उन्हीं की देन है. इसके अलावा कई हाईस्कूल की स्थापना भी उनके द्वारा किए जाने से पिछड़े क्षेत्र में शिक्षा का प्रसार संभव हुआ. वे 1989 के चुनाव में मुंगेर लोकसभा क्षेत्र से सांसद चुने गए थे. उनके निधन से अपूरणीय क्षति हुई है.

अपने पीछे धनराज सिंह एक पुत्र और 3 पुत्री छोड़ गए हैं. धनराज जनता पार्टी की टिकट पर मुंगेर सीट से चुनाव जीत कर संसद पहुंचे थे. 2005 में भी उन्होंने चुनाव लड़ा था. धनराज की पहचान उद्योगपति के रूप में थी. फ्रेजर रोड में धनराज टावर्स और बोरिंग रोड में राज टावर्स उन्ही के थे.

हाल में उनके बेटे की मौत ने उन्हें हिला कर रख दिया था. बेटे अमरेन्द्र कुमार (45) की लाश फुलवारीशरीफ में रेलवे ट्रैक पर मिली थी. मौत ट्रेन हादसे में हुई या हत्या कर उनकी लाश को ट्रैक पर फेंक दिया गया. इसको लेकर सस्पेंस बरकरार रहा था. जमशेदपुर से लेकर पटना तक का बिजनेस अमरेंद्र ही संभालता था. जमशेदपुर डीपीएस वहां के प्रबंधन के जिम्मे था.
यह भी पढ़ें-  धनजी सिंह हत्याकांड में पॉलिटिकल कनेक्शन ! पत्नी बोली- मुंह खोला तो बेनकाब होंगे बड़े चेहरे

iPhone 8 पटना को सबसे पहले गिफ्ट करेगा चांद बिहारी ज्वैलर्स, सोने के सिक्के तो फ्री हैं ही

स्मार्ट बनिए आ रही DIWALI में, अपने Love Bird को दीजिए Diamond Jewelry

PUJA का सबसे HOT OFFER, यहां कुछ भी खरीदें, मुफ्त में मिलेगा GOLD COIN

RING और EARRINGS की सबसे लेटेस्ट रेंज लीजिए चांद​ बिहारी ज्वैलर्स में, प्राइस 8000 से शुरू

चांद बिहारी अग्रवाल : कभी बेचते थे पकौड़े, आज इनकी जूलरी पर है बिहार को भरोसा

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)