लाल बत्ती विवाद : ‘PM-CM के काफिले से घंटे भर रहता है जाम, यह भी ख़त्म हो’

Ashok-Chaudhary.jpg
फाइल फोटो

पटना : बिहार में लाल बत्ती पर रोक का मामला गरमा गया है. केंद्र सरकार द्वारा इस संबंध में नियम बनाये जाने के बाद सोमवार 1 मई से सिर्फ इमरजेंसी सेवाओं को छोड़कर कोई भी अपनी गाडी पर लाल बत्ती नहीं लगा सकेगा. इस नियम पर बिहार कांग्रेस अध्यक्ष व शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने कहा है कि प्रधानमंत्री सुपरफिशियल सर्जरी कर क्रेडिट लेना चाहते हैं. वीआईपी कल्चर में केवल लालबत्ती हटाना ही काफी नहीं है.

चौधरी ने कहा कि मुझे समझ में नहीं आ रहा है कि लोग लालबत्ती के पीछे क्यों पड़े हैं? वीआईपी कल्चर में राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के लिए रोड एक घंटे के लिए रूका रहता है वो भी वीआईपी कल्चर हैं. केवल लालबत्ती से हटाने से वीआईपी कल्चर खत्म नहीं होता है. सरकार कानून बनाएगी तो सभी लोग लालबत्ती हटाएंगे.

Ashokchaudhury.jpg

वहीँ इस मामले में बिहार के अन्य नेताओं ने भी तीखी प्रतिक्रिया दी है. राजद विधायक भाई वीरेंद्र सिंह ने सवाल खड़े करते हुए पूछा है कि यह कौन से मंत्रिमंडल का फैसला है? उन्होंने कहा कि अगर यह हमारे राज्य सरकार का फैसला होगा, तभी हम उस नियम का पालन करेंगे.

बिहार सरकार के पशुपालन मंत्री अवधेश सिंह सोमवार को लालबत्ती लगाकर बिहार प्रदेश कांग्रेस के कार्यालय सदाकत आश्रम पहुंचे. उन्होंने कहा कि लालबत्ती से वीआईपी कल्चर खत्म नहीं होता हैं. पीएम काफिले के कारण होने वाले जाम भी खत्म होना चाहिए और ये सबसे बड़ा ‘वीआईपीपन’ है. बिहार सरकार में कांग्रेस कोटे से मंत्री अब्दुल गफ्फूर ने कहा कि बिहार सरकार के नोटिफिकेशन के बाद वो लालबत्ती हटाएंगे.

उधर, लालबत्ती पर केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव ने कहा कि केंद्र सरकार के इस फैसले से आम और खास लोग बराबर हो गए हैं. लालबत्ती के खिलाफ बिहार सरकार की चिट्ठी पर उन्होंने कहा कि ये सत्ता में लालबत्ती के लिए ही आते हैं.

रविवार को ‘मन की बात’ कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कहा कि हमारे देश में वीआईपी कल्चर की जड़ें गहरी हैं. देश में इसको लेकर एक नफरत का माहौल है. सरकारी गाड़ियों से लालबत्ती हटा दी गई हैं. लेकिन हमारे मन से भी हमें इसे निकालना है. उन्होंने कहा कि न्यू इंडिया का मतलब VIP नहीं बल्कि ईपीआई है. EPI का मतलब है, एवरी पर्सन इम्पॉर्टेंट.

यह भी पढ़ें :

‘जदयू सब जानता है, 2008 में उन्हीं ने खोली थी लालू की पोल’

लालू प्रसाद के दोनों बेटे बड़े जमींदार बन गये हैं : सुशील मोदी

अब चुप रहने को 5 करोड़ मांग रही महिला, दिल्ली पुलिस सक्रिय