कश्‍मीर में 56 इंच का सीना देखना चाहता है देश : सच्चिदानंद राय

sachchidanand
फाइल फोटो

पटना : कश्‍मीर के मसले पर बिहार विधान परिषद में भाजपा के सदस्‍य सच्चिदानंद राय ने बड़ा बयान दिया है. उन्‍होंने कहा है कि जम्‍मू कश्‍मीर के हालात सामने हैं. फिर से अनंतनाग में छह पुलिस वाले मार दिए गए. क्‍या कहें-क्‍या बताएं देश को. पता नहीं,हम सबों की भारतीय जनता पार्टी की कौन-सी मजबूरी है कि महबूबा मुफ्ती को जम्‍मू-कश्‍मीर का मुख्‍य मंत्री सजाकर बनाये ही रखना चाहते हैं. वह महबूबा मुफ्ती,किसके काम की है,जो शहीदों के अंतिम दर्शन को नहीं जाती है और न ही संवेदना के दो शब्‍द बोलती है. उल्‍टे, वह फिर से हुर्रियत का राग अलापती है और बातों की बात करती है.

उन्‍होंने कहा कि महबूबा का दिल-दिमाग स्‍पष्‍ट है,तो फिर भाजपा की मजबूरी क्‍या है. यह देश मंजूर नहीं करेगा कि शहीदों को सलामी-श्रद्धांजलि देने पीडीपी-भाजपा और दूसरे किसी दल का नेता न पहुंचे,वहीं जिस आतंकी को मारा गया,उसके फ्यूनरल में बड़े आतंकी जुटें और गन सैल्‍यूट दें. हद हो गई अब तो.

sachchidanand

वे बोले कि मैंने पहले भी कहा है और अब भी कह रहा हूं कि कश्‍मीर ऐसे नहीं संभलेगा. चलेगा भी नहीं. बचाना है तो केन्‍द्र कश्‍मीर को सीधे अपने अधीन करे. कुचल दें देश विरोधी ताकतों को. कोई मुरौव्‍वत नहीं. जैसे को जवाब तैसे में मिले. हम बिना किसी देरी ऐसा करने की अपील अपने प्रधान मंत्री नरेन्‍द्र मोदी जी से करबद्ध होकर कर रहे हैं.

राय कह रहे हैं कि प्रधान मंत्री जी को समझना होगा कि देश के लोगों ने पूछना शुरु कर दिया है. जवाब मांगा जाने लगा है कि कश्‍मीर के मामले में 56 इंच का सीना कब काम आयेगा.

इसलिए प्रधान मंत्री जी कार्रवाई करें,अब और देरी न करें प्‍लीज.