कंपार्टमेंटल परीक्षा 3 जुलाई से, मार्कशीट-सर्टिफिकेट में दर्ज नहीं करने का फैसला

पटना (नियाज़ आलम) : बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड इंटरमीडिएट परीक्षा में फेल छात्रों को एक और मौका देने जा रहा है. इस बार दो विषयों में फेल छात्र भी कंपार्टमेंटल की परीक्षा दे सकते हैं. इंटर छात्रों के 2 विषयों का कम्पार्टमेंटल परीक्षा की तिथि घोषित हो गई है. यह परीक्षा 3 जुलाई से 13 जुलाई तक ली जायेगी. इसके लिए 8 14 जून तक आॅनलाइन फॉर्म जमा होगा.



बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने मंगलवार को पटना में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि कंपार्टमेंटल परीक्षा में वे विद्यार्थी भी शामिल हो सकेंगे, जिनका रजिस्ट्रेशन तो 2017 इंटर परीक्षा के लिए हुआ था, लेकिन परीक्षा फाॅर्म नहीं भरने के कारण परीक्षा में शामिल नहीं हो पाये थे. ऐसे विद्यार्थी सारे विषयों की परीक्षा में शामिल होंगे. बता दें कि इंटर परीक्षा के लिए लगभग 14 लाख परीक्षार्थियों का रजिस्ट्रेशन हुआ था, लेकिन ढाई लाख परीक्षार्थी फाॅर्म नहीं भर पाये थे.

anand1

नहीं दर्ज होगा ‘कंपार्टमेंटल’

आनंद किशोर ने यह भी कहा कि पहली बार बिहार बोर्ड ने अंकपत्र और प्रमाणपत्र पर ‘कंपार्टमेंटल’ दर्ज नहीं करने का फैसला लिया है. इस बार कंपार्टमेंटल परीक्षा को स्पेशल एग्जाम के तौर पर लिया जा रहा है. ऐसे में प्रमाणपत्र पर कंपार्टमेंटल नहीं लिखा रहेगा. इसका फायदा छात्रों को बाद में नामांकन लेने में होगा.

इंटर परीक्षा की कॉपियों की स्क्रूटनी नौ जून से शुरू होगी. बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि इंटर परीक्षा में कम अंक लाने वाले परीक्षार्थियों से अभी स्क्रूटनी का आॅनलाइन और ऑफलाइन आवेदन लिया जा रहा है. आवेदन की प्रक्रिया 12 जून तक चलेगी. जून के अंत तक स्क्रूटनी का परिणाम भी जारी कर दिया जाएगा.

इसे भी पढ़ें –
बिहार बोर्ड का बड़ा एलान : स्क्रूटनी की फीस कम हुई, बेवजह फेल छात्रों को तुरंत मिलेगी राहत
कैबिनेट : 40 JE की सेवा अवधि बढ़ी, अभियोजन कार्यालयों में होगी नियुक्तियां
GANGS OF CBSE (1) : धंधा बहुत गंदा है, 500 करोड़ का सालाना बाजार है बिहार