तेजस्वी बोले – हार-जीत के लिए विचारधारा से समझौता नहीं

पटना : बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने कहा है कि हमने राष्ट्रपति चुनाव में जीत के लिए प्रत्याशी खड़ा किया है. उन्होंने कहा कि हम हार-जीत के लिए विचारधारा से समझौता नहीं कर सकते. तेजस्वी यादव ने यह बयान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा मीरा कुमार की उम्मीदवारी के मुद्दे पर विपक्ष को दो टूक जवाब दिए जाने के बाद दिया है.

शुक्रवार को राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के आवास पर आयोजित इफ्तार पार्टी के बाद पत्रकारों से बात करते हुए तेजस्वी ने उक्त बातें कही. उन्होंने कहा कि हमारी लड़ाई भाजपा और संघ के साथ है. यह विचारधारा की लड़ाई है और हम हार-जीत के लिए विचारधारा से समझौता नहीं करते. उन्होंनेसाफ़ कहा कि विपक्ष ने जीत के लिए प्रत्‍याशी खड़ा किया है. बिना मैदान में उतरे हार-जीत का फैसला कैसे कोई कर सकता है.

tejaswi-2

इससे पहले शुक्रवार को लालू प्रसाद के आवास पर आयोजित इफ्तार पार्टी के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि मीरा कुमार को उम्मीदवार बनाए जाने पर सवाल खड़ा किया था. उन्होंने कहा कि विपक्ष मीरा कुमार को हारने के लिए उम्‍मीदवार न बनाये. उन्होंने राष्‍ट्रपति पद के लिए मीरा कुमार की उम्‍मीदवारी को विपक्ष की बड़ी भूल बताया. साथ ही दुहराया कि वे भाजपा के राष्‍ट्रपति प्रत्‍याशी रामनाथ कोविंद के साथ हैं. यह उनका सोचा-समझा फैसला है.

गौरतलब है कि भाजपा समर्थित एनडीए की ओर से रामनाथ कोविंद की राष्ट्रपति उम्मीदवारी को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा समर्थन दिए जाने के बाद खासकर बिहार की राजनीति गरम हो गयी है. गुरुवार को दिल्ली में कांग्रेस की अगुवाई में विपक्षी दलों द्वारा मीरा कुमार को राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाए जाने के बाद लालू प्रसाद और बिहार कांग्रेस ने भी नीतीश कुमार से अपना फैसले पर पुनर्विचार करने की अपील की थी. गुरुवार शाम व शुक्रवार की सुबह लालू प्रसाद ने भी नीतीश के फैसले को ‘ऐतिहासिक भूल’ बताया था.

यह भी पढ़ें –
राजद-कांग्रेस को नीतीश की दो-टूक, ‘बिहार की बेटी’ को हराने के लिए खड़ा न करे विपक्ष
सुशील मोदी – ऐतिहासिक भूल, जंगल राज वालों से हाथ मिलाना थी
लालू ने कहा- सिद्धांतों से समझौता नहीं, कोविंद पर नहीं देता विपक्ष का भी साथ