नीतीश का एक्शन शुरु, खराब रिजल्ट के बाद सेक्रेटरी की छुट्टी

TRANSFER

पटना : बिहार बोर्ड के बारहवीं के नतीजे बेहद खराब होने के बाद खफा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक्शन लेना स्टार्ट कर दिया है. मुख्यमंत्री ने अपनी नाराजगी आज बुधवार को शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी और बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड के चेयरमैन आनंद किशोर के साथ भी जताई थी. माना यह जा रहा है कि रिजल्ट का प्रतिशत इसलिए खराब हुआ, क्योंकि परीक्षा में सख्ती हुई और मूल्यांकन में भी कड़ाई बरती गई. खराब नतीजों के बाद विपक्ष ने आरोप लगाना शुरु कर दिया कि बिहार की शिक्षा व्यवस्था चौपट है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी कहा कि वे सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों के परफॉरमेंस को देखेंगे.

मुख्यमंत्री की नाराजगी का सबसे पहला परिणाम यह आया कि शिक्षा विभाग के सचिव 2000 बैच के आईएएस अधिकारी जितेन्द्र श्रीवास्तव को हटा दिया गया. उन्हें शिक्षा विभाग से हटाकर अब मगध प्रमंडल का आयुक्त बनाया गया है. पदस्थापन की प्रतीक्षा में रहे 1997 बैच के आईएएस अधिकारी रॉबर्ट एल चोंगथू को शिक्षा विभाग के सचिव पद पर पदस्थापित किया गया है.

TRANSFER

इसके अलावा सामान्य प्रशासन विभाग ने जारी अधिसूचना में 2006 बैच के आईएएस अधिकारी व गन्ना उद्योग विभाग के संयुक्त सचिव जितेन्द्र कुमार सिंह को अतिरिक्त प्रभार भी सौंपा है. सिंह अगले आदेश तक ईख आयुक्त के अतिरिक्त प्रभार में भी रहेंगे.

मिल रही जानकारी के मुताबिक़ खराब रिजल्ट से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इतने आहत हैं कि अभी और कई सख्त निर्देश व परिवर्तन देखने को मिलेंगे. नीतीश ने साफ़ कह दिया है कि वे चुनौतियों को अवसर के रूप में बदलना जानते हैं. गलत मूल्यांकन से परेशान छात्रों की परेशानी अभी तुरंत दूर की जायेगी. साथ में ग्राउंड जीरो से स्कूलों में पढ़ाई की वास्तविक स्थिति का पता किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें –
खराब रिजल्ट से नीतीश खफा, मंत्री-चेयरमैन को तलब किया
सीएम ने कहा, छात्र परेशान न हों, गड़बड़ियां दूर की जाएंगी