छापेमारी से चिंतित लालू मिले वकील से, देर रात तक की बातचीत

lalu-yadav, IRCTC घोटाला, लालूप्रसाद , राबड़ी, तेजस्वी यादव, बिहार, रेलवे टेंडर घोटाला, रांची, जेल, पटियाला हाउस कोर्ट

पटना : बेनामी संपत्ति और मंत्री बनाने के एवज़ ज़मीन लिखवाने के आरोपों में घिरे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद और उनके परिवार के ठिकानों पर सीबीआई और ईडी की छापेमारी से बिहार की राजनीतिक गलियारों में सुगबुगाहट लगातार जारी है. शनिवार को पूरे दिन लालू के आवास पर मची गहमागहमी के बीच राजद सुप्रीमो से मिलने पार्टी के मंत्री व नेतागण आते रहे. शनिवार देर रात भी राजद व कांग्रेस नेताओं का आना-जाना लगा रहा.

हालांकि, जदयू नेताओं को वहां नहीं देखा गया, लेकिन पूर्व मंत्री रमई राम पहुंचे. रमई जदयू के वरिष्ठ नेता हैं. नीतीश कुमार की पूर्व सरकार में मंत्री भी थे. देर रात लालू प्रसाद के अधिवक्ता और अपर महाधिवक्ता चितरंजन सिन्हा भी लालू के आवास से निकले. हालांकि रात लगभग 11 बजे लालू के आवास से बाहर निकले उनके वकील ने तो कुछ भी कहने से इनकार किया लेकिन राजद सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सीबीआई छापेमारी के बाद लालू ने अपने वकील के साथ बंद कमरे में काफी देर तक विभिन्न क़ानूनी पहलुओं पर गंभीर विचार विमर्श किया.

lalu-yadav
पार्टी में आये इस भूचाल के मद्देनज़र सोमवार को राबड़ी देवी के आवास 10 सर्क्युलर रोड पर राजद विधायक की बैठक आयोजित की गई है. बता दें कि शनिवार को ही प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने लालू की बेटी और राजद की राज्यसभा सांसद मीसा भारती और उनके पति शैलेश के दिल्ली स्थित ठिकानों पर छापेमारी की थी. टीम ने मीस और शैलेश से आठ घंटे से भी ज्यादा वक्त तक पूछताछ की थी.

यह भी पढ़ें – लालू को मिला कांग्रेस का ‘हाथ’, सदानंद सिंह व अशोक चौधरी मिलने पहुंचे
जेडीयू महासचिव केसी त्यागी गिरफ्तार, पॉलिटिकल कॉरिडोर में सनसनी