EXCLUSIVE : जेल में बंद राजबल्लभ यादव दे रहा है महिला डीएसपी को धमकी

पटना : निगरानी अन्वेषण ब्यूरो की महिला डीएसपी मृदुला कुमारी को अपनी जान का खतरा है. उन्हें लगातार धमकी पर धमकी मिल रही है. जिस कारण वो काफी डरी और सहमी हैं. धमकी कभी मोबाइल पर तो कभी सामने से दी जा रही है. उन्हें धमकी कोई और नहीं, बल्कि बिहार शरीफ जेल में बंद नवादा के राजद विधायक राजबल्लभ यादव की ओर से मिल रही है.

ये वही राजबल्लभ यादव है, जो इन दिनों नाबालिग लड़की के साथ रेप करने के आरोप में जेल में बंद है. रेप का यह मामला पिछले साल 2016 में सामने आया था. नालंदा महिला थाने में केस संख्या 15/16 दर्ज है. उस वक्त मृदुला कुमारी नालंदा महिला थाना की एसएचओ थीं. साथ ही इस रेप केस की इंवेस्टिगेशन आॅफिसर भी. इस कारण केस के आरोपी राजद विधायक राजबल्लभ यादव लगातार उन पर केस को कमजोर बनाने का प्रेशर बना रहा था.

आया था वोट देने, गया धमकी देकर

सोमवार को राजबल्लभ यादव पुलिस सिक्योरिटी में नालंदा से पटना आया था. राजद का विधायक होने के कारण प्रेसिडेंट इलेक्शन के दौरान वोट डालने के लिए लाया गया था. दूसरी ओर वोटिंग के दौरान कड़ी सिक्योरिटी अरेंजमेंट्स के तहत कई पुलिस अधिकारियों को अलग से ड्यूटी पर लगाया गया था. इसमें निगरानी की महिला डीएसपी मृदुला कुमारी भी थीं. सोर्स की मानें तो राजबल्लभ की नजर मृदुला पर पड़ी. वहां भी वो महिला पुलिस अधिकारी को धमकी देने से नहीं चुका. इसके बाद से महिला पुलिस अधिकारी और डर गई हैं.

नालंदा में दर्ज है पहले से केस

लगातार धमकी मिलने के कारण महिला पुलिस अधिकारी काफी परेशान हो चुकी थीं. केस को कमजोर बनाने के लिए प्रेशर देने और धमकी देने के मामले में राजबल्लभ यादव के खिलाफ मृदुला ने नालंदा थाने में पहले ही एक केस दर्ज करा रखा है. लेकिन उसका भी राजद विधायक के उपर कोई असर नहीं पड़ा. नालंदा महिला थाने से पहले मृदुला पटना महिला थाने की भी एसएचओ रह चुकी हैं.

मिलेंगे दो बाॅडी गार्ड

मंगलवार को मृदुला ने पटना के एसएसपी मनु महाराज से मिलकर सुरक्षा प्रदान करने की गुहार लगाई. पूरे मामले से एसएसपी को वाकिफ कराया. इसके बाद एसएसपी ने जल्द ही दो बाॅडीगार्ड उपलब्ध कराने का आश्वासन दे दिया है. महिला पुलिस अधिकारी को पहले भी पुलिस की सुरक्षा उपलब्ध कराई गई थी. उस वक्त नालंदा पुलिस की ओर से बाॅडीगार्ड दिये गये थे. लेकिन, प्रमोशन होने के बाद उनकी पोस्टिंग निगरानी अन्वेषण ब्यूरो में बतौर डीएसपी कर दी गई. अब पटना पुलिस की ओर से उन्हें सुरक्षा प्रदान की जाएगी.

यह भी पढ़ें –
राजबल्लभ को जेल में ‘भोज’ कराने वाले जेलर को जबरिया रिटायर कराया गया
16 BAS अधिकारियों के तबादले, दुर्गेश कुमार बने मंझौल बेगूसराय के SDO