राजद पर फिर सुमो का हमला बोले ‘तेजस्वी इस्तीफा दें या सबूत पेश करें’

sushil-modi
सुशील मोदी (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज डेस्क: राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार पर पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने फिर हमला बोला है. जदयू की प्रेस वार्ता के ठीक बाद सुमो ने प्रेसवार्ता की और जमकर जुबानी तीर चलाए. सुमो ने सीएम नीतीश कुमार को 2008 के उस दिन की याद दिलवाई जब शरद यादव लालू प्रसाद के भ्रष्टाचार की शिकायत करने गए थे. उन्होंने तेजस्वी की इस्तीफे की भी मांग दोहरते हुए ‘सुशासन बाबू’ की नीतीश कुमार की छवि का भी हवाला दे डाला.

मंगलवार को जदयू की प्रेस वार्ता खत्म होने के तत्काल बाद पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने भी अपनी प्रेसवार्ता बुलाई. सुमो ने साफ कहा कि,’ जब 2008 में केन्द्र में लालू प्रसाद रेल मंत्री थे, उस वक्त 23 अगस्त 2008 को जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव ने भाजपा महासचिव मुख्तार अब्बास नकवी के साथ जाकर प्रधानमंत्री से डिलाइट मार्केटिंग कंपनी के जरिए लालू प्रसाद के परिवार के भ्रष्टाचार पर कार्रवाई की मांग की थी. आज वह उसी बात से पलट रहे हैं.’

 

सुशील मोदी यहीं नहीं रुके, उन्होंने इस मामले पर सीएम नीतीश कुमार को भी भ्रष्टाचार पर उनके पुराने बयान की याद दिलवाई. सुमो ने कहा कि,” नीतीश कुमार जी ने लालू प्रसाद पर भ्रष्टाचार के आरोप लगने के बाद कहा था कि उन्हें दोषमुक्त साबित होने तक अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए. आज नीतीश जी अपनी ही कही हुई बात को तेजस्वी पर लागू करने की हिम्म्त नहीं दिखा रहे हैं.’

उन्होंने जीतनराम मांझी समेत कई अन्य लोगों पर आरोप लगने केे बाद इस्तीफे लेने की जदयू की परंपरा का भी हवाला इस दौरान दिया. गौरतलब है कि लालू परिवार की कथित बेनामी संपत्तियों को लेकर सुशील मोदी उन पर हमलावर हैं. सुमो अब सीएम नीतीश कुमार को उनकी सुशासन बाबू की छवि का हवाला देकर कार्रवाई के लिए कह रहे हैं.

जबकि जदयू की प्रेसवार्ता के तत्काल बाद रमई राम ने भी राजद को चार दिन का वक्त स्पष्टीकरण के लिए दिया है.