‘मांझी से 4 घंटे में इस्तीफा लिया था नीतीश ने, तेजस्वी-तेजप्रताप से कब?’

पटना : भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने शनिवार को एक बार फिर तेजस्वी यादव व तेजप्रताप यादव को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने की मांग की है. उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी का हवाला देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री को लालू प्रसाद के दोनों बेटों को तुरंत बर्खास्त करना चाहिए. सुशील मोदी ने पटना में शनिवार को एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान उक्त बातें कही.

सुशील माेदी ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी पर भ्रष्टाचार के एक पुराने मामले में नीतीश कुमार ने उनसे महज चार घंटे में इस्तीफा ले लिया था. साथ ही नीतीश कुमार ने रामानंद सिंह, अवधेश कुशवाहा समेत दो अन्य मंत्रियाें से भ्रष्टाचार के आरोप लगने के बाद उनसे इस्तीफा ले लिया था.

सुशील मोदी ने कहा कि तेजस्वी यादव और तेज प्रताप यादव पर ईडी और सीबीआइ ने कार्रवाई की है. तेजस्वी का नाम तो सीबीआइ की ओर से दर्ज की गयी एफआइआर में भी है. उन्होंने उम्मीद जताते हुए कहा कि राजगीर से स्वास्थ्य लाभ के बाद पटना लौटने के साथ ही नीतीश कुमार तेजस्वी और तेजप्रताप के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उनसे इस्तीफे की मांग करेंगे.

राजद सुप्रीमो पर निशाना साधते हुए सुशील मोदी ने कहा कि चारा घोटाला मामले के समय भी लालू प्रसाद ने मिट्टी में मिला देने की बात कहीं थी और आज वो इन मामलों में सजायाफ्ता है. आज एक बार फिर बेनामी संपत्ति मामले में ईडी और सीबीआइ की छापेमारी के बाद लालू यादव फिर से अपने उसी अंदाज में भाजपा पर निशाना साधते हुए उसी तरह की बयानबाजी कर रहे हैं.

सुशील मोदी ने लालू प्रसाद को चुनौती देते हुए कहा कि इस तरह की बयानबाजी की बजाय उन्हें सीबीआइ की आेर से दर्ज की गयी एफआइआर में लगाये गये सभी आरोपों का बिंदुवार जवाब देना चाहिए.