‘तेजस्वी के मॉल के लिए अब जाकर पर्यावरण प्राधिकार को आवेदन दिया है’

sushil-modi.gif
फाइल फोटो

पटना : वरिष्ठ भाजपा नेता सुशील मोदी ने आरोप लगाया है कि डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के मॉल का निर्माण पिछले एक साल से पर्यावरण नियमों का उल्लंघन कर किया जा रहा है. अब मीडिया में मामला उजागर हुआ तो 18 अप्रैल को सुरसंड के राजद विधायक अब्दुल दोजाना की कम्पनी ने अनुमति के लिए पर्यावरण प्राधिकार को आवेदन दिया है. उन्होंने कहा कि अब नियमों के उल्लंघन के बाद राज्य प्राधिकार नहीं, केन्द्र ही अनुमति दे सकती है. राज्य प्राधिकार को तो प्राथमिकी दर्ज कर निर्माण रोकवाना और केन्द्र सरकार को सूचित करना है.

मोदी ने सवाल किया कि वनमंत्री बतायें कि क्या 7.66 लाख वर्गफुट के विशाल मॉल के निर्माण की अनुमति पर्यावरण प्राधिकार से ली गई थी? क्या यह सच नहीं है कि बिना पर्यावरण क्लीयरेंस लिए एक साल से निर्माण किया जा रहा है? दरअसल राज्य पर्यावरण प्राधिकार में हिम्मत नहीं है कि तेजस्वी व तेज प्रताप के मॉल के खिलाफ कार्रवाई करें. ऐसे में मुख्यमंत्री हस्तक्षेप कर प्राथमिकी दर्ज कर निर्माण कार्य रोकवायें.

sushil-modi.gif

मोदी ने पूछा कि क्या छोटे भाई उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के मॉल के अवैध निर्माण को बड़े भाई वन मंत्री तेज प्रताप यादव का संरक्षण मिला हुआ है? आखिर बिना पर्यावरण क्लीयरेंस लिए एक साल से मॉल का निर्माण कैसे हो रहा है? क्या मॉल की दो एकड़ जमीन की मिट्टी कटाई के लिए खनन विभाग को रॉयल्टी का भुगतान किया गया है? पर्यावरण नियमों के उल्लंघन के आरोप में प्राथमिकी दर्ज कर मॉल के निर्माण को रोकवाने की कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही है?

बता दें कि सुशील मोदी और लालू परिवार के बीच आरोप-प्रत्यारोप का यह दौर बीते करीब महीने भर से चल रहा है. इस संबंध में रविवार को जदयू नेताओं ने भी प्रेस कांफ्रेंस कर कहा है कि बेनामी संपत्ति रखने वालों पर कार्रवाई होनी ही चाहिए. उधर डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने एक कार्यक्रम में इस संबंध में सवाल पूछे जाने पर कहा कि आरोप-प्रत्यारोप तो चलते रहेंगे आज विकास की बात करते हैं. सुशील मोदी को मनोज झा ठीक जवाब दे रहे हैं.

यह भी पढ़ें :

डिप्टी CM तेजस्वी बोले, सुमो की छोड़िए आज विकास की बात करते हैं..

जिन पर है बेनामी संपत्ति का आरोप, उन पर हो कार्रवाईः आरसीपी सिंह

‘मोदी बताएं, पत्थर तोड़नेवाली भगवतिया देवी को सांसद बनाने में लालू को क्या मिला?’