‘राष्‍ट्रविरोधी नारे लगाने वालों को ठोंक देना होगा’

sachchidanand

पटना : भारतीय जनता पार्टी के विधान पार्षद ई सच्चिदानंद राय ने कहा है कि सुकमा में नक्‍सलियों की वारदात बिलकुल आतंकी कार्रवाई है . यह अति है . अब बर्दाश्‍त नहीं किया जा सकता . देश-दुनिया को संदेश देना होगा कि भारत ने आतंकवाद के खिलाफ जीरो टालरेंस की नीति अपना ली है . कोई समझौता मंजूर नहीं होगा . कहीं नरम कहीं गरम की नीति नहीं चलने वाली है .

उन्‍होंने कहा कि सुकमा की नक्‍सली वारदात को समझने की जरुरत है . ऐसी कार्रवाई को पाकिस्‍तान जैसे देश बढ़ावा तो देते ही हैं,साथ में हमारे देश के भीतर की कुछ ताकतें भी हैं . ये ताकतें इन्‍हें सपोर्ट करती है और फंडिंग भी . लेकिन हमारी नीतियों की भी कुछ कमजोरी है . केन्‍द्र और छत्‍तीसगढ़ में हमारी सरकार है . जिम्‍मेवारी से बच नहीं सकते . असली समस्‍या यह है कि हम अपनी सेना और पारा मिलिट्री फोर्स के हाथों को बांध रखे हैं . इससे काम नहीं चलने वाला है .

sachchidanand

राय ने कहा कि सेना और पारा मिलिट्री फोर्स को खुली छूट देनी होगी . आतंकियों को समझा देना होगा कि हमारी सेना की गोलियां जमीन में खर्च करने के लिए नहीं है . देश के भीतर जो भी राष्‍ट्रविरोधी कार्रवाई करें,नारे लगाएं अथवा पत्‍थरबाजी करें,उन्‍हें ठोंक देना होगा . बगैर ऐसा किए ये सुधरेंगे नहीं . और ऐसा कर दिया,तो ये तुरंत सुधर भी जायेंगे .

उन्‍होंने कहा कि हम अपने प्रधान मंत्री नरेन्‍द्र मोदी की प्रतिज्ञा को जानते हैं . चुनाव के पहले उन्‍होंने वायदा भी किया था . देश को अपेक्षाएं हैं . हमें पता है कि सत्‍ता में आने के बाद सब कुछ तुरंत कर देना आसान नहीं होता . शांति के लिए वक्‍त देना होता है . पर,अब बहुत वक्‍त दिया जा चुका है . और नहीं दिया जा सकता . महाभारत लिखा है,तो जरुर महाभारत हो . महाभारत की अनुमति आखिरकार भगवान श्रीकृष्‍ण को भी देनी पड़ी थी . अब यह अनुमति केन्‍द्र सरकार को तुरंत दे देनी चाहिए .

यह भी पढ़ें :

चीनी मिल मजदूरों की लड़ाई में अब पप्‍पू यादव के साथ होंगे स्‍वामी अग्निवेश
रंजीत सिन्हा के खिलाफ कोयला घोटाले में सीबीआई ने केस दर्ज किया