लालू-तेजस्‍वी बाद में : CBI पहले लपेटे में लेगा चाणक्‍या होटल के कोचर ब्रदर्स को

नई दिल्‍ली/पटना : लालू प्रसाद के चक्‍कर में पटना के चाणक्‍या होटल वाले कोचर ब्रदर्स बुरे फंस गये हैं. सीबीआई ने रेलवे के होटल घोटाला में 7 जुलाई को लालू प्रसाद के ठिकानों के साथ कोचर ब्रदर्स विजय कोचर और विनय कोचर के यहां भी दबिश दी थी. अब सीबीआई आगे की तैयारी में है. जांच को गति प्रदान की जानी है. यह गति कोचर ब्रदर्स को दोहरा घेर रही है.

दरअसल,कोचर ब्रदर्स का सौदा ही सीबीआई की प्राथमिकी के आधार में हैं. आरोप है कि लालू प्रसाद जब रेल मंत्री थे,तब कोचर ब्रदर्स के साथ करप्‍ट डील शुरु हुई. पटना में कोचर ब्रदर्स ने लालू प्रसाद के साथ हुए सौदे के तहत बेली रोड की अपनी बेशकीमती जमीन देकर बदले में रांची और पुरी में रेलवे का होटल प्राप्‍त कर लिया. अब पटना वाले लैंड पर लालू प्रसाद एंड फैमिली बिहार के सबसे बड़े मॉल का निर्माण करा रहा था,जिसे केन्‍द्रीय वन व पर्यावरण मंत्रालय के निर्देश पर रोक दिया गया है.

mall-1

सीबीआई की छापेमारी के बाद बिहार की राजनीति गरमाई हुई है. सीबीआई के जानकार कह रहे हैं कि राजनीति से जांच एजेंसी को वास्‍ता नहीं है,पर मामले के अनुसंधान को तेज करने का निर्देश जारी है. इस कांड के अनुसंधानक सीबीआई के डीएसपी संजय दुबे बनाये गये हैं.

सूत्र कह रहे हैं कि सीबीआई लालू प्रसाद-राबड़ी देवी-तेजस्‍वी यादव पर एक्‍शन लेने के पहले बहुत सारी और कसरत को पूर्ण करेगी. इस कसरत में रेलवे मंत्रालय से कई संबद्ध फाइलें प्राप्‍त की जा रहीं हैं. सीबीआई जांच में दस्‍तावेजी सबूतों को अधिक प्रायोरिटी देती है. जुड़े रेलवे अधिकारियों की जानकारी भी प्राप्‍त कर ली गई है.

hotel-chanakya

जानकार कह रहे हैं कि तेज कार्रवाई में सबसे पहले कोचर ब्रदर्स ही लपेटे में आयेंगे. दिल्ली में यह भी चर्चा है कि कोचर ब्रदर्स से जुड़े 5 और लोगों की पहचान सीबीआई द्वारा की जा चुकी है. वजह कि वह ऐसी साफ्ट कड़ी हैं,जो सीबीआई के सामने जल्‍द टूटेंगे और वांछित जानकारी बता देंगे. पूछताछ के लिए उन्‍हें बुलाया जाना शीघ्र शुरु किया जाएगा और फिर वन टू वन भी कराया जाएगा. सीबीआई की इस तैयारी से कोचर ब्रदर्स की बेचैनी का बढ़ जाना स्‍वाभाविक है. वजह कि वे कुछ बयां कर गये,तो पटना में उन्‍हें लालू प्रसाद को फेस करना होगा. नहीं बोले तो सीबीआई परेशान करेगी. बड़ा आर्थिक नुकसान अलग से तय है.

यह भी पढ़ें –
टशन ख़त्म हुआ क्या ! तेज प्रताप खाने बैठे हैं सत्तू-प्याज
राष्ट्रपति चुनाव में मनु महाराज का एक्शन, लापरवाह ASI व सिपाही सस्पेंड
राजबल्लभ को जेल में ‘भोज’ कराने वाले जेलर को जबरिया रिटायर कराया गया