21 साल का हुआ राजद, झंझावातों को झेलते हुए फिर पहुंचा सत्ता में

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार में महागठबंधन सरकार के सबसे मजबूत घटक दल राष्ट्रीय जनता दल (RJD) बुधवार को 21 साल का हो गया. राजद ने जहां आज बैठक की तैयारी की है. यह बैठक राजद के पटना स्थित कार्यालय में होगी. वहीं घटक दलों से भी राजद को बधाई देने का तांता लगा हुआ है.

राजद कार्यालय में होने वाली बैठक को खुद पार्टी सुप्रीमो लालू प्रसाद संबोधित करेंगे. बैठक में गांधी मैदान में आयोजित होनेवाले 27 अगस्त की रैली की समीक्षा की जायेगी. बता दें कि इस रैली को राजद की ओर से भाजपा के खिलाफ बुलायी गयी है. बुधवार को होनेवाली बैठक में राजद के पूर्व सांसद, विधायक, लोकसभा व विधानसभा चुनाव में राजद के प्रत्याशी व पार्टी के विभिन्न प्रकोष्ठ के अध्यक्षों को भी बुलाया गया है.

गौरतलब है कि वर्ष 1996 में राष्ट्रीय जनता दल का गठन हुआ था. तब से पार्टी विभिन्न झंझावातों को झेलते हुए आगे बढ़ रही है. और, काफी उतार चढ़ाव के बाद फिर राजद दोबारा बिहार की सत्ता में आया है. इधर पॉलिटिकल कॉरिडोर में हो रही चर्चा के अनुसार अपने 21 साल के होने पर बैठक के बहाने राजद भाजपा को अपनी शक्ति का एहसास कराना चाहता है. वह रैली को ऐतिहासिक बनाना चाहता है. 27 अगस्त को होनवाली रैली को लेकर बैठक में समीक्षा की जायेगी.

हालांकि पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी का कहना है कि यह भाजपा नहीं, बल्कि महागठबंधन के अन्य दलों को अपनी शक्ति का अहसास कराना चाह रहे हैं. उधर राजद के स्थापना दिवस को लेकर पार्टी के नेता उत्साहित हैं. वे एक दूसरे को बधाई दे रहे हैं. राजद के प्रदेश अध्यक्ष राजचंद्र पूर्वे ने पार्टी के नेताओं समेत बिहार की जनता को बधाई दी है. वहीं जदयू के विधायक व पूर्व मंत्री श्याम रजक ने स्थापना दिवस पर जदयू को बधाई दी है.

इसे भी पढ़ें : लालू बोले – नीतीश NDA में थोड़े चले गए हैं, हमारा साथ अटूट है