Minister in Action : बिहार सरकार के 22 बीडीओ होंगे ​सस्पेंड, 13 डीडीसी से शो कॉज, अफसरों में हड़कंप

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार सरकार विकास कार्य को लेकर काफी गंभीर है. सयम पर कार्य हो, इसके लिए हर कोशिश कर रही है. यही वजह है कि योजनाओं में हो रही लेटलतीफ पर एक्शन लेने में नहीं चूक रही है. ऐसे ही एक निर्णय से सरकार के बिहार प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों में हड़कंप मच गया है.

सूत्रों के अनुसार बिहार सरकार के ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार ने सूबे के लेटलतीफ अफसरों पर कार्रवाई करने का आदेश दिया है. उन्होंने 10 जिलों के 22 बीडीओ (प्रखंड विकास पदाधिकारी) को निलंबित करने का आदेश जारी किया है. इतना ही नहीं, 13 डीडीसी (उपविकास आयुक्त) पर एक्शन लेने को कहा गया है. फिलहाल उन डीडीसी से शो कॉज पूछने का आदेश मंत्री ने दिया है.

बताया जाता है कि राज्य में प्रधानमंत्री आवास योजना और इंदिरा आवास योजना की असंतोषजनक प्रगति के बाद इन पदाधिकारियों पर कार्रवाई करने का आदेश दिया गया है. सूत्रों के अनुसार बैठक कल आयोजित की गयी थी. इसी बैठक में मंत्री श्रवण कुमार ने ‘प्रपत्र क’ का गठन करते हुए अफसरों को सस्पेंड करने का आदेश दिया.

बता दें कि ग्रामीण विकास विभाग ने समीक्षा बैठक में मंत्री श्रवण कुमार आक्रोशित हो गये, जब पाया कि प्रधानमंत्री आवास योजना और इंदिरा आवास योजना का कार्यान्वयन अफसरों की लेटलतीफी के कारण ठीक से नहीं हो पा रहा है. गरीब गुरबों के घर नहीं बन पा रहे हैं. उन्हें खुले आकाश के नीचे रहना पड़ रहा है. मंत्री ने दो टूक पूछा कि सीनियर अफसरों को एसी रूम में भी नींद नहीं आती है, तो खुले आसमान के नीचे धूप, बारिश की मार झेल रहे लोग कैसे सोते हैं. इसके बाद उन्होंने संबंधित अफसरों पर कड़ी कार्रवाई की. उन्होंने स्पष्ट कहा कि तमाम विकास योजनाओं में लेटलतीफी नहीं चलेगी, इसलिए अफसर तेजी से काम करें, वरना कार्रवाई के लिए तैयार रहें.

इन पर गिरी गाज
बक्सर : ब्रह्मपुर व चौगांई के बीडीओ
जहानाबाद : सदर व मखदुमपुर के बीडीओ
लखीसराय : बड़हिया, चानन, पिपरिया, रामगढ़ व सूर्यगढ़ा के बीडीओ
मुजफ्फपुर : मीनापुर के बीडीओ
प चंपारण : नरकटियागंज के बीडीओ
पटना : बख्तियारपुर व संपतचक के बीडीओ
पूर्वी चंपारण : मेहसी के बीडीओ
रोहतास : डेहरी, कोचस, राजपुर व सासाराम के बीडीओ
समस्तीपुर : मोरवा के बीडीओ
वैशाली : लालगंज, महनार व राजापाकड़ के बीडीओ