सीएम ने कहा – छात्र परेशान न हों, गड़बड़ियां दूर की जाएंगी

(लाइव सिटीज डेस्क) : मुख्यमंत्री परीक्षा परिणाम एवं छात्रों के विरोध से काफी क्षुब्ध नजर आए. उन्होंने छ़ात्रों के विरोध प्रदर्शन के बाद तत्काल अधिकारियों की बैठक बुलाई और स्थिति की समीक्षा की. उन्होंने कहा कि पूर्व में परीक्षा और मूल्यांकन को लेकर काफी गड़बड़ियां हुई थीं. इस बार उन गड़बड़ियों को न होने देने का संकल्प लिया गया था और हम इसमें सफल भी रहे.

परीक्षा के स्तर पर और मूल्यांकन दोनों ही स्तर पर सख्ती बरती गई. कुछ शिकायत है तो इसको हम देख रहे हैं. मुख्यमंत्री ने बैठक में हुई बातों पर चर्चा करते हुए कुछ भावी कार्ययोजनाओं का भी खुलासा किया. उन्होंने कहा कि छात्रों को परेशान होने की जरूरत नहीं है. अगर उन्हें लगता है कि उन्होंने कॉपी ठीक लिखी थी लेकिन उन्हें अंक ठीक से नहीं दिए गए या उनके कॉपी का मूल्यांकन ठीक से नहीं हुआ तो शिकायत पर फिर से कॉपी की जांच होगी. उन्हें इसके लिए परेशान होने की जरूरत नहीं है. जहां तक खराब परीक्षा परिणाम की बात है तो इसके लिए छात्र जांच के लिए आवेदन दे सकते हैं. इसका प्रावधान है और यह उनका अधिकार है. इसमें कहीं से पीछे हटने की बात नहीं है. कंपार्टमेंटल परीक्षा भी शीघ्र कराने की व्यवस्था होगी.

शिक्षा को बेहतर बनाने की कोशिश लगातार जारी है. इस दिशा में और क्या किया जा सकता है, हम इस बारे में विचार कर रहे हैं. कुछ बातें ग्राउंड लेवल की हैं, इसपर भी हमने आज चर्चा की है. स्कूल में शिक्षा व्यवस्था बेहतर रहे इस बात का ध्यान रखा जाएगा. टीचर की बहाली की जरूरत होगी तो इस पर भी विचार किया जाएगा. सरकार यह भी देखेगी कि वित्त रहित विद्यालयों में परिणाम की क्या स्थिति रही है और सरकारी विद्यालयों में क्या स्थिति रही है, दोनों का मूल्यांकन किया जाएगा. मैं हमेशा पॉजिटिव बातें करता रहा हूं और अब भी करूंगा. मैंने हमेशा चुनौतियों को अवसर में तब्दील किया है.

आगे भी विचार—विमर्श कर एक सक्षम कार्ययोजना तैयार की जाएगी और मैं बता दूं कि इस काम में संसाधनों की कोई कमी नहीं होने दी जाएगी.