रांची सीबीआई कोर्ट में पेश हुए लालू, जारी रहेगी जमानत

लाइव सिटीज डेस्क : राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद शुक्रवार को चारा घोटाला के दो मामलों में सीबीआई कोर्ट में पेश हुए. उन्होंने रांची के सीबीआई कोर्ट की दो अदालतों में अपनी हाजिरी दी. लालू प्रसाद कोर्ट से निकलने के बाद बड़े आराम के मूड में दिखे. बता दें कि कोर्ट में हाजिरी देने के लिए लालू प्रसाद गुरुवार को ही रांची पहुंच गये थे.



लालू प्रसाद की पेशी चारा घोटाला के दो मामलों में हुई. एक मामला देवघर कोषागार तो दूसरा मामला डोरंडा कोषागार से जुड़ा है. मालूम हो कि दोनों मामलों में 95 लाख रुपये की अवैध निकासी का आरोप है. सूत्रों की मानें तो जमानत को लेकर यह पेशी अहम मानी जा रही थी. सूत्रों की मानें तो उनकी जमानत आगे भी जारी रहेगी. हालांकि यह अहम पेशी को लेकर लोगों की जबर्दस्त भीड़ थी. लालू प्रसाद की सुरक्षा को लेकर व्यापक प्रबंध किये गये थे.

सीबीआई कोर्ट में पेश होने से पहले रांची के सर्किट हाउस में ठहरे थे लालू प्रसाद.

गौरतलब है कि वर्ष 1996 में पशुओं के चारा के नाम पर 950 करोड़ रुपये सरकारी खजाने से फर्जीवाड़ा करके निकाल लिये जाने का मामला उजागर हुआ था. इसमें 44 से अधिक मामले दर्ज किये गये थे. इन्हीं में झारखंड में देवघर व डोरंडा का मामला भी शामिल हैं. इन्हीं दोनों मामलों में शुक्रवार को लालू प्रसाद रांची के सीबीआई कोर्ट में पेश हुए. जमानत जारी रहने के आदेश के बाद लालू प्रसाद वहां से लौट गये. बता दें कि गुरुवार को ही लालू प्रसाद रांची पहुंच गये थे और वहां सर्किट हाउस में मीडिया के समक्ष उन्होंने कानून पर भरोसा जताया था.

बताया जा रहा है कि सुप्रीम कोर्ट की गाइड लाइन के तहत सुनवाई हो रही है. वहीं लालू प्रसाद के अधिवक्ता प्रभात जी ने मीडिया को बताया कि सीबीआई की ओर से आज कोई पक्ष नहीं रखा गया है और लालू प्रसाद की जमानत फिलहाल जारी रहेगी. गौरतलब है कि इसके पहले 6 जून को चारा घोटाले के एक ही मामले में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की पटना के सीबीआई कोर्ट में पेशी हुई थी. यह पेशी चारा घोटाला में भागलपुर कोषागार से संबंधित मामले में हुई थी. भागलपुर में 47 लाख की राशि के हेरफेर किये जाने का आरोप है. इसे लेकर सीबीआई ने 1996 में यह मामला दर्ज किया था.

इसे भी पढ़ें : रांची में बरसे लालू : किसान भी मर रहे-जवान भी मर रहे, क्या यही हैं अच्छे दिन? 
लालू को CBI का फेर, तेजप्रताप फिर पहुंचे भगवान कृष्ण की शरण में 
लालू बोले- मीडिया को भाट-चारण परंपरा में ले जा रही है मोदी सरकार