पप्‍पू ने पूछा, सिर्फ गणेश को ही जेल क्‍यों, उम्र में हेर-फेर तो तेजप्रताप-तेजस्‍वी ने भी की है

पटनाः इंटर टॉपर गणेश के फर्जीवाड़े का विवाद बढ़ता ही जा रहा है. इसने राजनीतिक शक्‍ल भी लेना स्‍टार्ट कर दिया है. आज इस मामले में जन अधिकार पार्टी (लो) के संरक्षक व सांसद पप्‍पू यादव ने भी तीखे सवाल खड़े किए. पप्‍पू की पार्टी ने कल सोमवार 5 जून को रिजल्‍ट में गड़बड़ी के विरोध में सभी यूनिवर्सिटी-कालेज और छह जून को जिलों में डीईओ ऑफिस में तालाबंदी करने का एलान किया है.

सांसद पप्‍पू यादव आज रविवार को फेसबुक लाइव थे. इस सेशन में उनके उठाये सवाल हैं –

1.उम्र छुपाने-घटाने पर अकेले गणेश को जेल क्‍यों. यह प्रमाणित है कि घालमेल लालू प्रसाद के बेटे तेजस्‍वी यादव और तेजप्रताप यादव ने भी की है. चुनाव आयोग में जमा शपथ पत्र कहता है कि सच के विपरीत तेजस्‍वी यादव बड़े और तेजप्रताप यादव छोटे हैं. तो फिर इनके खिलाफ कार्रवाई क्‍यों नहीं हो रही है.

2.बिहार में शिक्षकों को बैगन का डगरा बना दिया गया है. पहले तो शिक्षकों की भर्ती में योग्‍यता का ख्‍याल नहीं रखा जाता. फिर शिक्षकों से पढ़ाई से अधिक दूसरे काम लिए जाते हैं. कभी जनगणना तो कभी पोलियो का बूंद पिलाने का काम. वेतन भी नियमित नहीं. पढ़ाई क्‍या खाक होगी.

3.इंटर की कॉपियों को जांचने में गड़बड़ी सरकार और बोर्ड ने की है. प्राइमरी स्‍कूलों के शिक्षकों ने कॉपियां जांची,जिन्‍हें सिलेबस तक नहीं पता था. परिणाम लाखों छात्र फेल हो गए. आईआईटी मेंस पास कर चुके स्‍टूडेंट भी फेल कर गए. अब सरकार कहती है कि प्रति विषय कॉपी को फिर से देखने को 120 रुपये की दर से जमा करो. यह गलत बात है. गलती सरकार की,तो फिर पैसा क्‍यों.

4.कॉपियों को फिर से देख लेने के बहाने सरकार छात्रों से 300 करोड़ रुपये की उगाही करने जा रही है. इसका विरोध करेंगे. सरकार शराबबंदी से हुए राजस्‍व नुकसान के लिए ऐसे रास्‍ते तलाशती है.

6.जमाना सिस्‍टम को पारदर्शी बनाने का है. परेशान छात्र आंदोलन कर रहे हैं. कॉपियों को वेबसाइट पर अपलोड करने की मांग कर रहे हैं. लेकिन बोर्ड यह करने को तैयार नहीं है, क्‍योंकि नाकामी की वजह से छात्रों के साथ किये गये तमाशे को पूरी दुनिया जान जाएगी.

7.एडमिशन माफिया और परीक्षा पास कराने का ठेका लेने वाले ठेकेदार पूरे बिहार में हैं और सरकार के नियंत्रण से बाहर हैं. पुरस्‍कार राशि ने भी गलत रास्‍ता खोला है. धंधेबाज स्‍कूल सीधा ठेका लेकर पुरस्‍कार राशि का बंटवारा कर लेते हैं.

8.सीबीएसई में भी करप्‍शन है. 95 प्रतिशत रिजल्‍ट गड़बडि़यों के बूते निकलता है. उनके टॉपरों से मीडिया क्‍यों नहीं सवाल करती है. इतने ही टैलेंटेड होते तो उन्‍हें नौकरी मिलने का प्रतिशत कम क्‍यों हो जाता है.

9.बिहार में हर गड़बड़ी के बाद कार्रवाई सिर्फ छात्र और पदाधिकारी पर ही होती है. जिम्‍मेदारी से मंत्री कैसे बचेंगे, उन्‍हें भी दंडित किया जाना चाहिए.

10.सुशील मोदी को तेजप्रताप के किसी मंत्र-तंत्र के अनुष्‍ठान से भयभीत होने की जरुरत नहीं है. कोई नहीं मार सकता. अपना काम ईमानदारी से करें. मौत तो तय है, जब आना होगा, तो आ ही जाएगी.

यह भी पढ़ें-
देखें वीडियो : SSP मनु महाराज ने फर्जी टॉपर गणेश से की पूछताछ, कई चौंकाने वाले खुलासे
EXCLUSIVE : देख लें सबूत, इंटर की कापियां जांची थी प्राइमरी स्कूल के शिक्षकों ने
Exclusive : प्रिंसिपल फरार, भाजपा के नेताजी का भी अब नहीं मिल रहा अता-पता