‘बुनियाद जब तक मजबूत नहीं होगी, टॉप पर नहीं पहुंचा जा सकता है’

nitish-kumar, Bihar, CM Nitish Kumar, Increases, MLA, MLC, Fund, बिहार, विधायक, नीतीश कुमार

लाइव सिटीज डेस्क : बुनियाद जब तक मजबूत नहीं होगी, टॉप पर नहीं पहुंचा जा सकता है. विकास के प्रति मैं कटिबद्ध और प्रतिबद्ध ​हूं. हमने एक लक्ष्य रखा था कि राज्य के किसी भी सुदूर इलाके से लोग सड़क मार्ग से छह घंटे में पटना पहुंच जाएं, यह लक्ष्य अब पूरा हो चुका है और अब सुदूर इलाके से पटना पहुंचने के लिए पांच घंटे का लक्ष्य निर्धारित किया गया है. इसके लिए सड़कों के चौड़ीकरण एवं पुल-पुलिये का निर्माण चल रहा है. ये बातें सीएम नीतीश कुमार ने मंगलवार को कहीं.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक टीवी चैनल की ओर से आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की योजनाओं के साथ-साथ हमने मुख्यमंत्री ग्राम संपर्क योजना का भी शुभारंभ किया. उन्होंने कहा कि स्टेट हाइवे को भी दुरूस्त कर दिया गया है और उसकी गुणवत्ता पर लगातार नजर रखी जा रही है. साथ में एनएच की मरम्मत पर भी राज्य सरकार ने अपना योदगान दिया है. उन्होंने कहा कि बिजली की जो हालत थी, उसमें व्यापक सुधार आया है. 2017 के अंत तक हर बसावट में बिजली पहुंचा दी जाएगी और 2018 के अंत तक हर घर में बिजली का कनेक्शन दे दिया जाएगा.

सीएम ने कहा कि कानून का राज स्थापित कर ही हम आगे बढ़े हैं और बुनियादी ढांचा, स्वास्थ्य और शिक्षा पर बहुत काम किया. मुख्यमंत्री ने कहा कि बुनियाद जब तक मजबूत नहीं होगी, शीर्ष तक नहीं पहुंचा जा सकता है. उन्होंने कहा कि यह अब एक राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मुद्दा बनता जा रहा है कि बिहार किस तरह से नई ऊंचाइयों को हासिल कर रहा है. उन्होंने कहा कि बिहारियों को इस पर गर्व करना चाहिए कि चाणक्य और चंद्रगुप्त जैसे महान लोगों ने इस पाटलिपुत्र की धरती को अपना कर्मक्षेत्र बनाया.

शिक्षा पर चर्चा करते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि पहले जब लड़कियों को साइकिल देने की योजना की शुरूआत हुई तो लोगों ने इसका मजाक उड़ाया और लोग कहते थे कि लड़की हाथ से निकल जाएगी. लेकिन, जैसे जैसे लोग जागरूक हुए और जब उनकी लड़कियां आगे बढ़कर रोजाना स्कूल आने लगीं तो लोगों के विचार में व्यापक परिवर्तन आया. आज पोशाक और साइकिल योजना को छात्राओं के साथ-साथ छात्रों के लिए भी चलायी जा रही है, जिसका व्यापक असर देखने को मिल रहा है. शिक्षकों और स्कूल भवनों की कमी को दूर करने के बाद हमने प्राथमिक शिक्षा पर काम शुरू किया और कुछ दिनों बाद ही इसके सकारात्मक परिणाम देखने को मिले.

मुख्यमंत्री ने कहा कि शराबबंदी के समर्थन में चार करोड़ लोगों ने मानव श्रृंखला बनायी थी, इसी को आगे बढ़ाते हुए 21 जनवरी 2018 को एक बार फिर दहेज प्रथा और बाल विवाह के खिलाफ मानव श्रृंखला बनायी जाएगी. ताकि लोगों में व्यापक जनचेतना जगायी जा सके. उन्होंने कहा कि बिहार में अपराध को लेकर हमारी जीरो टालरेंस की नीति है और हम समाज सुधार के लिए निरंतर कार्य करते रहेंगे. उन्होंने कहा कि मैंने साइकिल फैक्ट्री लगाने की सलाह दी और इसके लिए औद्योगिक प्रोत्साहन नीति का लागू किया ताकि पूंजी निवेश करने वालों को कोई असुविधा न हो.