अब राबड़ी व तेजस्वी को ED ने बुलाया, भेजा है नोटिस

राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज डेस्क : लालू प्रसाद की फैमिली की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही हैं. सीबीआई के बाद अब ईडी ने अपनी कार्रवाई तेज कर दी है. नये मामले में पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और उनके पुत्र पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को ईडी ने नोटिस दिया है. ईडी ने नोटिस देकर दोनों को दिल्ली बुलाया है. मनी लॉड्रिंग व बेनामी संपत्ति को लेकर यह नोटिस भेजा गया है.

दिल्ली से आ रही खबर के अनुसार ईडी ने राबड़ी देवी को एक बार फिर नोटिस भेजा है. इसके अनुसार उन्हें ईडी ने पूछताछ के लिए 11 अक्टूबर को बुलाया है. बताया जाता है कि यह पूछताछ बेनामी संपत्ति को लेकर मनी लांड्रिंग से संबंधित केस में की जायेगी. मीडिया में आ रही खबर के अनुसार ईडी ने इससे पहले दो बार नोटिस भेज चुका है. पिछली बार नोटिस 19 सितंबर को भेजकर उन्हें 26 सितंबर को बुलाया गया था. लेकिन राबड़ी देवी इस तारीख को उपस्थित नहीं हो सकी थी.

इसी तरह तेजस्वी यादव को भी ईडी ने बुलाया है. नोटिस देकर दिल्ली स्थित ईडी आॅफिस आने को कहा है. तेजस्वी यादव से दिल्ली में पूछताछ की जायेगी. तेजस्वी यादव से 10 अक्टूबर को ईडी की ओर से पूछताछ की जायेगी. यहां भी मामला वही है बेनामी संपत्ति वाला. बताया जाता है कि इसके पहले भी तेजस्वी को नोटिस दिया गया था, लेकिन वे निर्धारित डेट पर उपस्थित नहीं हो सके थे. ऐसे में ईडी ने एक बार फिर से राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव को नोटिस भेजकर दोनों को दिल्ली बुलाया है.

बता दें कि मंगलवार को सीबीआई ने राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद व उनके पुत्र तेजस्वी यादव को नोटिस भेजा था. नोटिस के अनुसार सीबीआई दिल्ली आॅफिस में दोनों से पूछताछ करेगी. सूत्रों के अनुसार रेलवे टेंडर में हुई अनियमितता को लेकर दोनों से यह पूछताछ होनी है. नोटिस के अनुसार 3 अक्टूबर को लालू प्रसाद और 4 अक्टूबर को तेजस्वी यादव से पूछताछ की जायेगी. बता दें कि इस मामले में बाकी आरोपियों से पहले ही सीबीआई की टीम ने पूछताछ कर ली है.

गौरतलब है कि सबसे पहले लालू प्रसाद व तेजस्वी यादव को सीबीआई ने समन भेज कर 11 व 12 सितंबर को पूछताछ के लिए दिल्ली बुलाया था. लेकिन बाद में लालू प्रसाद ने अपरिहार्य कारणों से डेट बढ़ाने की मांग सीबीआई से की थी. जिसे उसने स्वीकार कर लिया था. इसके बाद दोनों से पूछताछ के लिए नयी तिथि निर्धारित की थी. नयी तिथि के अनुसार 25 व 26 सितंबर को पूछताछ होनी थी. लेकिन इस नयी तारीख पर भी वे लोग मौजूद नहीं हो सके. उनकी मांग पर एक बार फिर तिथि बढ़ाई गई है.

दरअसल रेलवे ठेके में गड़बड़ी मामले को लेकर सीबीआई 6 जुलाई को ही केस दर्ज कर चुकी है. सीबीआई ने लालू प्रसाद, उनकी पत्नी राबड़ी देवी, उनके बेटे तेजस्वी यादव के अलावा पांच और लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी. सीबीआई मानती है कि रेलवे के दो होटलों के टेंडर मामले में राजद सुप्रीमो, उनका परिवार व अन्य शामिल हैं. इससे पहले 7 जुलाई को सीबीआई की टीम ने लालू प्रसाद और उनके करीबियों के करीब 12 ठिकानों पर छापेमारी की थी. इसके बाद तो बिहार में ‘राजनीतिक भूचाल’ आ गया था. इसके बाद यहां की सत्ता ही बदल गयी.

यह भी पढ़ें- लालू-तेजस्वी को फिर CBI का समन, पू्छताछ के लिए 3-4 अक्टूबर को बुुलाया दिल्ली 
मौका है : AIIMS के पास 6 लाख में मिलेगा प्लॉट, घर बनाने को PM से 2.67 लाख मिलेगी ​सब्सिडी
RING और EARRINGS की सबसे लेटेस्ट रेंज लीजिए चांद​ बिहारी ज्वैलर्स में, प्राइस 8000 से शुरू
चांद बिहारी अग्रवाल : कभी बेचते थे पकौड़े, आज इनकी जूलरी पर है बिहार को भरोसा

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)