‘आप पूरे देश में शराबबंदी करवाइए, हम भी साथ में करेंगे योग’

पटनाः आज International Yoga Day है. देश-विदेश में सबने मिल-जुलकर इसे सेलिब्रेट किया. बिहार में भी खूब योग किए गए. इसी बीच योग पॉलिटिक्ट भी खूब हो रही है. एक तरफ भारतीय जनता पार्टी नीतीश सरकार पर योग से दूर रहने का आरोप लगा रही है. तो वहीं जेडीयू ने बीजेपी के इन आरोपों पर चुटकी ली है.

बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी ने कहा कि योग दिवस पर आयोजित कार्यक्रमों को लेकर जहां पीएम मोदी सहित बीजेपी के आलाकमान ने पूरे देश में योग को लेकर अपनी कमान संभाल रखी है, वहीं बिहार सरकार इस आयोजन से कोसो दूर है. इस पर कटाक्ष करते हुए भाजपा नेता सुशील मोदी ने कहा कि नीतीश कुमार ने शराबबंदी करा दी है और अब शराब की लत छुड़ाने के लिए लोगों को योग करने के लिए प्रोत्साहित करें.

सुशील मोदी ने आगे कहा कि योग से ही शराबबंदी में मदद मिल सकती है, नीतीश कुमार को तो बिहार के लोगों को योग करने के लिए प्रेरित करना चाहिए, उन्हें आज के कार्यक्रम में हिस्सा लेना चाहिए था, लेकिन वो घर में बैठे हैं.

इसका जवाब देते हुए जदयू के मुख्य प्रवक्ता और विधान पार्षद संजय सिंह ने कहा है कि सुशील मोदी योग को लेकर घिनौना खेल खेल रहे हैं. उन्होंने कहा कि सुशील मोदी बताएं कि शराबबंदी का क्या मजहब होता है और योग का क्या मजहब होता है? उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तो आम लोगों के हित में यह बात कर रहे हैं.

दूसरी ओर सुशील मोदी बस पार्टी हित में सोच रहे हैं. सिंह ने कहा कि योग जैसी खूबसूरत क्रिया को भी भाजपा के नेता राजनीति का अखाड़ा बना रहे हैं. योग शारीरिक स्वच्छता और मानसिक स्वच्छता का प्रतीक है.

सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शराबबंदी के यदि पक्षधर हैं तो उन्हें पूरे देश में शराबबंदी लागू करनी चाहिए. पूरे देश में न सही, भाजपा शासित राज्यों में तत्काल शराबबंद करानी चाहिए. अगर वो एेसा करें तो हम उनके साथ योग करने को तैयार हैं.

बता दें कि नीतीश कुमार ने कहा था कि मुझे प्रचार करने की आदत नहीं और योग पर राजनीति नहीं करनी चाहिए. मैं प्रतिदिन योग करता हूं, लेकिन इसका ढोल नहीं पीटता. योग सबको करना चाहिए और यह निहायत ही अपनी पर्सनल पसंद है, किसी को जबर्दस्ती ये सब नहीं थोपना चाहिए. जिसे मन हो करे, ना मन हो ना करे. बिहार ने योग क्रिया, ध्यान और विपश्यना देश-विदेश के लोगों को सिखाया है. बिहार के लिए कोई क्या संदेश देगा?

यह भी पढ़ें-

लखनऊ में नरेंद्र मोदी, तो हाजीपुर में रामविलास पासवान ने किया योग
सारे योग से अधिक महत्‍व है सूर्य नमस्कार का