‘नीतीश के सिर पर ताज, लेकिन लालू चला रहे हैं सरकार’

लाइव सिटीज डेस्कः पहले से ही संपत्ति घोटाले के आरोपों से घिरे लालू परिवार की मुश्किलें और बढ़ गई हैं. बेटे तेजस्वी और तेजप्रताप के बाद विपक्ष ने अब बेटी मीसा भारती को भी निशाने पर लिया है. बेटी मीसा भारती के जमीन घोटाले में नाम आने के बाद शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने सीएम नीतीश की खामोशी पर सवाल उठाए हैं.

उन्होंने कहा कि सच्चाई यह है कि नीतीश कुमार के सिर पर ताज है लेकिन सरकार लालू चला रहे हैं. रामविलास यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा कि इसके नतीजे भी साफ नजर आ रहे हैं. बिहार का भविष्य अंधकार में नजर आ रहा है.

बता दें कि एक निजी न्यूज चैनल ने लालू प्रसाद की बेटी एवं राज्यसभा सांसद मीसा भारती की प्रॉपर्टी को लेकर नया खुलासा किया है. जिसमें दिल्ली में लालू परिवार के कुछ सदस्यों द्वारा मुखौटा कंपनियों के जरिए बहुत ही कम दाम में करोड़ों की प्रापर्टी खरीदे जाने की बात बतायी जा रही हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक यह काम संदेहास्पद कंपनियों के शेयर खरीदने और बेचने की आड़ में किया गया. इन आरोपों के घेरे में लालू यादव की सबसे बड़ी बेटी मीसा भारती के साथ उनके दामाद शैलेश कुमार हैं.

जिनके द्वारा राजधानी दिल्ली में एक करोड़ 41 लाख रुपये में खरीदी गयी संपत्तियों की कीमत 100 करोड़ रुपये बतायी जा रही है.

न्यूज चैनल के पास मौजूद दस्तावेजों के मुताबिक दावा किया गया है कि मीसा भारती और उनके पति शैलेश कुमार ने दिल्ली के इंदिरा गांधी एयरपोर्ट के नजदीक बिजवासन में एक फार्महाउस सिर्फ 1.41 करोड़ रुपये में खरीद लिया. इस इलाके में कई अमीर और प्रभावशाली लोगों की संपत्तियां हैं.

इसके अलावा मीसा भारती और उनके पति ने सैनिक फार्म्स में भी एक फॉर्महाउस खरीदा. इसके खरीदे जाने की प्रक्रिया भी संदेहास्पद बतायी गयी है. रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज के रेकॉर्ड के मुताबिक, मीसा और शैलेश कम से कम चार प्राइवेड लिमिटेड कंपनियों के डायरेक्टर हैं.

उधर इस खुलासे के बाद प्रतिक्रिया देते हुए राजद प्रवक्ता मनोज झा ने इमेल पर जवाब भेजा. जिसमें कहा गया है कि इसमें गैरकानूनी क्या है.

उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा, हमें सुपारी पत्रकारिता के तहत फंसाया जा रहा है, जिसका मकसद विपक्ष छवि को खराब करना और उसकी आवाज को दबाना है.

यह भी पढ़ें-
लालू के खिलाफ खुद नीतीश सुप्रीम कोर्ट तक गए थे अब बचाव कर रहे हैं
बड़ा आरोपः 1997 में बेउर जेल से ही सरकार चला रहे थे लालू