‘कांग्रेस ने देश में नैतिकता विहीन राजनीति को जन्म दिया’

वाराणसी : युवा चेतना के राष्ट्रीय संयोजक रोहित कुमार सिंह ने शुक्रवार को वाराणसी में देश की अस्मिता से जुड़े मुद्दों पर पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि इसे राजनेताओं को गंभीरता से लिया जाना चाहिए. मौके पर उन्होंने भारतीय सेना, विश्वविद्यालय आदि राष्ट्रीय महत्व वाले संस्थानों को दलगत राजनीति से अलग रखने की सलाह दी.

ऐसे संस्थानों के अंदरूनी मामलों में राजनीतिक हस्ताक्षेप से न सिर्फ़ उनकी साख गिरती है, बल्कि उनकी कार्यशैली पर भी असर पड़ता है. ऐसे राजनीतिक हस्तक्षेप को दिशाहीन राजनीति का दुष्परिणाम बताते हुए श्री सिंह ने कहा इस सब का मूल कारण विपक्ष की उत्तरोत्तर बढ़ती जा रही सत्तालोलुपता है.

कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए श्री सिंह ने कहा कि कांग्रेस ने सत्ता में रहते हुए देश में नैतिकता विहीन राजनीति को जन्म देकर देश से धोखा किया. जब भारत के जागरूक मतदाता ने कांग्रेस को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखा दिया तब वह विपक्ष में रहते हुए जनता को भ्रमित करने की कोशिश कर रही है.

हाल में हुई जाधवपुर विश्वविद्यालय, जेएनयू और बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय में हुई घटनाओं के लिए विपक्ष, मुख्यरूप से कांग्रेस, पर श्री सिंह ने जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि अब यह यकीन होता जा रहा है कि आगामी लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखकर सोची-समझी सुनियोजित रणनीति पर अमल किया जा रहा है.

कांग्रेस के नेतृत्व में चली सरकारों का जब भी जिक्र किया जाता है. तब सबसे अधिक बातें उनके शासन के तहत किए गए घोटालों, भ्रष्टाचारों और रिश्वतखोरी के न खत्म होने वाली सूची के बारे की जातीं हैं. कांग्रेस को शिक्षित भारतीयों की सरकार में एक बड़ा हिस्सा देने और भारत के कल्याण के लिए स्वतंत्रता संग्राम में सक्रिय और समेकित भाग लेने के लिए स्थापित किया गया था. लेकिन कब और कैसे ये लक्ष्य बदल गए और आत्महित एवं घोटाले कांग्रेस का हिस्सा बन गये, यह पता ही नहीं चला.

कांग्रेस की अगुवाई वाली यूपीए सरकार ने दो कार्यकाल पूरे किए लेकिन पार्टी हमेशा किसी न किसी घोटाले की खबर में रही है. युवाओं का आहवाहन करते हुए श्री सिंह ने कहा कि युवाओं को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कि दूरदर्शिता का लाभ लेना चाहिए. युवाओं की ऊर्जा के समुचित उपयोग के लिए उन्होंने केंद्र सरकार से युवाओं के लिए युवा विकास परिषद के गठन की मांग की.

भारत एक नौजवान देश है. अगर भारत की युवा शक्ति को सही दिशा दी जाए तो भारत को विश्वगुरु बनने से कोई रोक नहीं सकता. इसी क्रम में श्री सिंह ने राष्ट्रीय-स्तर पर एक युवा आयोग के गठन की मांग भी की. केंद्र सरकार से युवा चेतना के राष्ट्रीय संयोजक श्री सिंह ने युवाओं के लिए एक समेकित रोड-मैप कि भी मांग की.

कांग्रेस ने दशकों लंबे अपने कार्यकाल में युवाओं को सिर्फ ठगा है. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर हमला करते हुए श्री सिंह ने कहा कि जीएसटी जैसे गंभीर मुद्दे पर छिछले बयान दे कर अपने मानसिक दीवालियेपन का परिचय दिया है.  एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिन-रात देशसेवा में लगे हैं, वहीं कांग्रेस के युवराज अपनी अल्पविकसित बुद्धि का प्रदर्शन करने में व्यस्त हैं.