संजय सिंह – लंबी छलांग के लिए 2-4 कदम पीछे आना होता है, सुशील मोदी छात्रों को न भड़काएं

sanjay2.jpg
फाइल फोटो

पटना : बिहार में इंटर परीक्षा के रिजल्ट को लेकर हंगामा बरप गया है. इसी क्रम में भाजपा ने जदयू नेतृत्व वाली नीतीश सरकार पर सवाल उठाये थे. जिसका जवाब देते हुए जदयू प्रवक्ता सह विधान पार्षद संजय सिंह ने सुशील मोदी पर हमला बोला है. उन्होंने पूछा है कि मोदी कदाचार मुक्त परीक्षा चाहते हैं कि नहीं? वो एक सख्त शिक्षा प्रणाली चाहते हैं कि नहीं?

संजय सिंह ने कहा कि सुशील मोदी बच्चों के कंधे पर अपनी राजनीतिक बंदूक रखकर फायर कर रहे हैं. सुशील मोदी इंटर के छात्रों से अपील कर रहे हैं कि वो सड़कों पर उतरें और बिहार सरकार के खिलाफ आंदोलन करें. सुशील मोदी मासूम छात्रों के नाम पर भी अपनी राजनीति कर रहे हैं, जबकि इस समय उन्हें अपील करना चाहिए कि शान्ति बना कर रखें. लेकिन सुशील मोदी इससे उलट बिहार के नौजवानों को भड़का रहे हैं जो उनकी नियत को बताता है कि वो बिहार में शांति नहीं देखना चाहते हैं.

sanjay2.jpg

सिंह ने कहा कि ये सच है कि जो रिजल्ट आए हैं वे अच्छे नहीं, लेकिन चरमराई व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए सख्त कदम उठाए जाने बेहद जरूरी है. एक महीने के भीतर बिहार बोर्ड कंपार्टमेंटल परीक्षा आयोजित करेगा ताकि जिन छात्रों के रिजल्ट खराब हुए हैं वे दोबारा परीक्षा में शामिल होकर बेहतर कर सकें. पहले इस बात को समझना होगा कि क्या हम कदाचार को जारी रहने देते या फिर गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और छात्रों की बेहतरी के लिए सख्त कदम उठाते. सरकार ने बगैर कोई समझौता किए सख्त कदम उठाए हैं. अब पढऩे और पढ़ाने की आदत विकसित करने पर जोर दिया जा रहा है.

जदयू नेता ने कहा कि लंबी छलांग के लिए दो-चार कदम पीछे आना ही होता है. सुधार की प्रक्रिया में ऐसे ही रिजल्ट की आशंका थी. लेकिन, जिन विद्यार्थियों के परिणाम बेहतर नहीं आए हैं वे कंपार्टमेंटल परीक्षा में बैठकर इनमें सुधार कर सकते हैं. शिक्षा में बेहतरी के लिए कई कदम उठाए जा रहे हैं. प्लस टू स्कूलों से लेकर माध्यमिक स्कूलों तक में शिक्षकों की संख्या बढ़ाने की कवायद हो रही है. छात्रा-छात्राओं के अंदर पढ़ने की आदत विकसित करने के लिए निरंतर प्रयास जारी है. अब शिक्षकों की जवाबदेही भी तय की जा रही है. रिजल्ट तो अच्छे नहीं हैं, परन्तु थोड़ा धैर्य रखना होगा. व्यवस्था में जल्द ही बदलाव दिखेगा.

इसे भी पढ़ें –
खराब रिजल्ट से नीतीश खफा, मंत्री-चेयरमैन को तलब किया
सीएम ने कहा, छात्र परेशान न हों, गड़बड़ियां दूर की जाएंगी