महागठबंधन बचाने की कवायद : शरद ने सोनिया से की मुलाकात, 40 मिनट चली बात

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार में महागठबंधन पर सियासत तेज है. सूबे ही नहीं पूरे देश की नजर इस पर पिछले 10 दिनों से लगी है. महागठबंधन में आयी तल्खी भी किसी से छिपी नहीं है. रविवार को महागठबंधन के घटक दलों के विधायकों की बैठक भी है.

जदयू की अलग बैठक है, जबकि राजद व कांग्रेस की बैठक संयुक्त रूप से है. बैठकों में क्या निर्णय होगा, यह तो आने वाला समय बतायेगा, लेकिन महागठबंधन को बचाने की कवायद भी तेजी से चल रही है. इसी कड़ी में जदयू के वरीय नेता व राज्यसभा सांसद शरद यादव ने कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की है.

 

पॉलिटिकल कॉरिडोर में हो रही चर्चा की मानें तो महागठबंधन में राजद और जदयू में चल रहे बवाल को शांत करने की कवायद कुछ नेताओं की ओर से लगातार जारी है. इसके लिए जदयू के वरीय नेता व राज्यसभा सांसद शरद यादव ने कांग्रेस को अहम भूमिका निभाने के लिए कोशिश करने को कहा है. इसे लेकर शरद यादव ने कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से शनिवार की रात भेंट की.

चर्चा है कि दोनों नेताओं के बीच बिहार में महागठबंधन में मचे बवाल पर काफी देर बात हुई. पॉलिटिकल कॉरिडोर में हो रही चर्चा के अनुसार सोनिया गांधी और शरद यादव दोनों बिहार में महागठबंधन की सरकार के पक्षधर हैं. दोनों नेताओं के बीच लगभग 40 मिनट तक बातें हुईं. इस दौरान महागठबंधन में शांति बहाली के लिए रास्ता तलाशने पर भी बातें हुईं. हालांकि दोनों के बीच बातचीत क्या हुई, इस पर कोई अधिकृत बयान नहीं आया है, लेकिन इतना कहा जा रहा है कि वे बिहार में महागठबंधन को जारी रखना चाहते हैं.

 

गौरतलब है कि 7 जुलाई को लालू प्रसाद के 12 ठिकानों पर एकसाथ सीबीआई की छापेमारी के बाद महागठबंधन के रिश्ते में खटास आ गयी है. मामला तब बढ़ गया, जब डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के एफआईआर में नाम आने के बाद भी उन्होंने इस्तीफा देने से इनकार कर दिया. राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने भी इस्तीफा देने से इनकार कर दिया है. हालांकि सीमए नीतीश कुमार की अब तक चुप्पी बनी हुई है लेकिन जदयू प्रवक्ताओं का साफ कहना है कि नीतीश कुमार का स्टैंड क्लियर है कि वे भ्रष्टाचार से समझौता नहीं कर सकते हैं. इसे लेकर रविवार को जदयू के विधायक दल की होेनेवाली बैठक पर सबकी नजर लगी हुई है.

इसे भी पढ़ें : सीएम नीतीश ने बुलायी जदयू विधायकों की आपात बैठक, होगा बड़ा फैसला