सृजन घोटाला : CBI कोर्ट ने कहा- भागलपुर जेल भेजो सभी आरोपियों को

लाइव सिटीज डेस्क : सृजन घोटाला मामले में आज मंगलवार को अब तक गिरफ्तार 17 आरोपियों की सुनवाई हुई. पटना के सिविल कोर्ट कैंपस में स्थित सीबीआई की स्पेशल कोर्ट में इसकी सुनवाई हुई. कोर्ट ने सभी आरोपियों को भागलपुर जेल वापस भेजने का आदेश दिया. बता दें कि इस सुनवाई को लेकर आज सुबह से ही राजनीतिक गलियारे से लेकर प्रशासनिक महकमे तक की नजर लगी हुई थी.

पटना स्थित सीबीआई कोर्ट में आज की पेशी को लेकर सभी आरोपियों को सोमवार की देर रात पटना लाया गया था. मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी त्रिभुवन यादव ने सीबीआई कोर्ट के प्रोडक्शन वारंट के आलोक में आरोपियों को पटना ले जाने की अनुमति दी थी. इसके बाद भारी सुरक्षा में सभी आरोपियों को पटना लाया गया था.

गौरतलब है कि केन्द्रीय व विशेष केंद्रीय कारा में सृजन घोटाले के 17 आरोपी बंद हैं. इसमें दो महिलाएं भी शामिल हैं. इसे लेकर दशहरा के पहले पटना के अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी सह सीबीआई कोर्ट की विशेष न्यायाधीश (द्वितीय) गायत्री कुमारी ने उन 17 आरोपियों के खिलाफ प्रोडक्शन वारंट जारी किया था.

इसे लेकर मंगलवार को सृजन घोटाला के 17 आरोपियों की पटना स्थित सीबीआई के स्पेशल कोर्ट में सुनवाई हुई. कोर्ट ने सभी आरोपियों को वापस भागलपुर जेल भेजने को आदेश दिया. मालूम हो कि दो माह पूर्व अगस्त में सृजन घोटाला का खुलासा हुआ था. इसमें कुल 18 आरोपियों को अब तक गिरफ्तार किया गया था. इनमें से एक नाजिर महेश मंडल की मौत हो गयी है. बाकी 17 आरोपियों की पेशी मंगलवार को प्रोडक्शन वारंट जारी होने के बाद पटना के सीबीआई कोर्ट में हुई.

खास बात कि पिछले दिनों सृजन घोटाले की किंगपिन रहीं दिवगंत मनोरमा देवी के घर का ताला टूट गया था. हालांकि इसमें यह पता नहीं चला कि चोरों ने वहां क्या-क्या खंगाला.

यह भी पढ़ें- बिहार में रिस्क नहीं लेना चाहती है कांग्रेस, जिला अध्यक्षों के नाम की घोषणा पर लगी रोक 
RING और EARRINGS की सबसे लेटेस्ट रेंज लीजिए चांद​ बिहारी ज्वैलर्स मेंप्राइस 8000 से शुरू
PUJA का सबसे HOT OFFER, यहां कुछ भी खरीदें, मुफ्त में मिलेगा GOLD COIN
अभी फैशन में है Indo-Western लुक की जूलरी, नया कलेक्शन लाए हैं चांद बिहारी ज्वैलर्स
मौका है : AIIMS के पास 6 लाख में मिलेगा प्लॉट, घर बनाने को PM से 2.67 लाख मिलेगी ​सब्सिडी

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)