‘पत्थरबाज़ और आतंकियों के लिए सेक्युलर ज्ञानियों का कलेजा फटने लगता है’

giriraj-singhfinal.jpg

पटना : केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के नवादा सांसद गिरिराज सिंह ने कहा है कि देश में अबतक हिन्दुओं पर हुए अत्याचार को लेकर कोई जांच नहीं हुई है. इसको लेकर भी जांच होनी चाहिए. उन्होंने कश्मीरी पंडितों और अयोध्या मामले का हवाला देते हुए कहा कि साल 1990 में हिन्दुओं को कश्मीर से बर्बरतापूर्ण तरीके से निकाल दिया गया. फिर साल 1992 में अयोध्या में जनरल डायर की तरह हिन्दुओं पर गोली चलवा दी गई. इन मामलों की कोई जांच नहीं हुई.

भाजपा के फायरब्रांड नेता नेता ने इसको लेकर देश के कथित सेक्युलर वर्ग पर भी हमला किया. उन्होंने कहा कि हिन्दुओं पर हुए अत्याचार को लेकर कोई जांच नहीं होती है. इन घटनाओं पर देश के सभी सेक्युलर ज्ञानी चुप हो जाते हैं. लेकिन कश्मीर के पत्थरबाजों और आतंकियों के लिए सेक्युलर ज्ञानियों का कलेजा फटने लगता है.

giriraj-singhfinal.jpg
फाइल फोटो

गिरिराज ने ये बातें ट्वीट के माध्यम से कहीं. इससे पहले उन्होंने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमला करते हुए ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि ममता जी, कुछ ही दिनो की बात है, बंगाल पाकिस्तान नहीं बनेगा और हिंदुस्तान पे राज करके हिंदुस्तान को पाकिस्तान बनाने का आपका सपना पूरा नहीं होगा. अपने इसी ट्वीट के जवाब के उन्होंने शनिवार को फिर से यह बात कही है.

अपने बयानों के लिए चर्चित रहनेवाले गिरिराज ने हाल ही कहा था कि बाबरी मस्जिद में जो भी आरोपी हैं, वे जनता की नजर मे बेकसूर हैं. इससे पहले वो आबादी के नियंत्रण का मुद्दा लगातार उठाते रहे हैं. उन्होंने कई बार कहा है कि देश में जनसंख्या नियंत्रण कानून की सख्त जरूरत है. उनका कहना था कि सामाजिक समरसता और सांस्कृतिक विरासत बचाए रखने के लिए जरूरी है कि सभी धर्मों के लोगों पर दो से ज्यादा बच्चे पैदा करने की पाबंदी लगे.

यह भी पढ़ें :

उपराष्ट्रपति के साथ पांच दिनों के विदेश दौरे पर गये केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह