उपेन्द्र कुशवाहा ने जूस पिला कर खत्म कराया भूख हड़ताल

पटना (नियाज़ आलम) : बिहार में गिरती शिक्षा व्यवस्था और बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर सांकेतिक भूख हड़ताल पर बैठे राष्ट्रीय युवा लोक समता पार्टी के कार्यकर्ताओं का मंगलवार को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा ने जूस पिलाकर हड़ताल समाप्त कराया. 

सभी कार्यकर्ता सोमवार से 24 घंटे की भूख हड़ताल पर गर्दनी बाग स्थित धरना स्थल पर बैठे थे. पार्टी के महासचिव सह प्रवक्ता अभिषेक झा ने बताया कि बिहार में गिरती शिक्षा व्यवस्था और बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर पार्टी कार्यकर्ता 24 घंटे की सांकेतिक भूख हड़ताल पर थे.

अभिषेक झा ने कहा कि इंटर एवं मैट्रिक घोटालों की जांच सीबीआई से कराई जाये. शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी तुरंत इस्तीफा दें. बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर की अविलंब गिरफ्तारी हो. बिना किसी शुल्क के कापियों का पुनर्मूल्यांकन किया जाये और गिरतीकानून व्यवस्था के ज़िम्मेदार लोगों के बर्खास्त किया जाये. 

भूख हड़ताल में युवा लोक समता के प्रदेश महासचिव जयवर्धन शर्मा, मीडिया प्रभारी श्रीकांत महतो, रवीश अन्ना, अमित कुमार श्रवण, सुमित कुमार, अभय वर्मा, संजीव वर्मा, अनिल पटेल, अजित पटेल, डब्लू कुशवाहा, आशीष कुशवाहा, दीपक शर्मा, रिंकू महतो, देवचंद कुशवाहा व अन्य कार्यकर्ता शामिल रहे.

बता दें कि कल राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला किया है. कुशवाहा ने कहाथा  कि नीतीश केवल अच्छे का श्रेय लेना जानते हैं लेकिन खराब की ज़िम्मेदारी कौन लेगा.

कुशवाहा ने कहा था कि शिक्षा जैसे महत्वपूर्ण विभाग की ऐसी स्थिति राज्य के लिए दुर्भाग्यपूर्ण है, लेकिन उससे भी दुर्भाग्यपूर्ण है सरकार के ज़रिये केवल दिखावे की कार्रवाई करना. कुशवाहा ने कहा कि सरकार उसी पुराने रवैये पर है कि किसी एक का गला दबाना ताकि जनता को लगे कि बहुत बड़ी कार्रवाई हो रही है.

यह भी पढ़ें- उपेन्द्र कुशवाहा का हमला, कहा- सिर्फ अच्छे का श्रेय लेना जानते हैं नीतीश