‘प्रभुनाथ पर बोलते हैं ; अनंत,सूरजभान,रामा पर क्‍यों चुप रह जाते हैं मोदी’

pappu 123

पटना : जन अधिकार पार्टी (लो) के संरक्षक व मधेपुरा के सांसद पप्‍पू यादव ने आज मंगलवार को प्रभुनाथ सिंह के बहाने भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी पर तेज निशाना साधा . पप्‍पू ने कहा , प्रभुनाथ सिंह को सजा हुई,कोर्ट के फैसले का सम्‍मान है . गलती की सजा भुगतेंगे . लेकिन,बात-बात में सुशील मोदी जिस तरीके से एक्‍सपर्ट कमेंट बिहार में तुरंत जारी कर देते हैं,हम जानना चाहते हैं कि वे इतने ही बड़े एक्‍सपर्ट हैं तो अनंत सिंह,सूरजभान सिंह,रामा सिंह,नीरज कुमार बबलू जैसों पर क्‍यों नहीं बोलते हैं . इन सबों की हिस्‍ट्रीशीट तो प्रभुनाथ सिंह से कहीं कम नहीं है . फिर चुप्पी सिर्फ इसलिए कि सभी एनडीए के साथ अथवा करीब हैं और इसलिए इनका हर अपराध माफ है .

पप्‍पू यादव ने मीडिया से बातचीत में कहा कि सुशील मोदी कैसे प्रभुनाथ सिंह के खिलाफ बोल सकते हैं . स्‍मरण शक्ति कमजोर हो गई क्‍या . सब कुछ भूल गये क्‍या . उन्‍हें याद नहीं है क्‍या कि जदयू एनडीए का पार्ट होता था . तब प्रभुनाथ सिंह जदयू में थे . लोक सभा में जदयू संसदीय दल के उपनेता थे . अटल बिहारी वाजपेयी और लालकृष्‍ण आडवाणी जी बड़ा सम्‍मान करते थे . सुशील मोदी जी याद करें,भाजपा ने ही कांग्रेस प्रेसीडेंट सोनिया गांधी के खिलाफ विषवमन के लिए सबसे अधिक प्रभुनाथ सिंह का इस्‍तेमाल किया था . उस दौर में एनडीए के प्‍लेटफार्म पर प्रभुनाथ सिंह आगे और सुशील मोदी पीछे बैठा करते थे . तब भी वे विधायक अशोक सिंह के मर्डर केस के आरोपी थे . ऐसे में,जब भाजपा के लिए तब वे बहुत सम्‍मानित थे,तो आज इतने खराब कैसे हो गए .

pappu 123

उन्‍होंने कहा कि मोदी जी याद करें,प्रभुनाथ सिंह ने वैशाखी के बूते राजनीति नहीं की,आपने जरुर किया . प्रभुनाथ सिंह के खिलाफ बोलने वाले मोदी बता दें कि वे बराबरी से प्रभुनाथ के शिष्‍यों के बारे में बोलेंगे क्‍या,जो छपरा से लेकर पूर्णिया तक हैं . सुपौल में तो विधायक हैं . पर हमें पता है कि मोदी नहीं बोलेंगे, क्‍योंकि ये सभी आज एनडीए के साथ हैं .

श्री यादव ने कहा कि बिहार की समस्‍या तब तक खत्‍म नहीं हो सकती,जब तक मोदी जैसे नेता व्‍यक्ति और पार्टी-गठबंधन आधारित विरोध बंद न करें . अपराध और अपराधी का निर्धारण पार्टी व गठबंधन के आधार पर कतई नहीं हो सकता है . सुशील मोदी ने मीडिया में विरोध के अलावा कभी कुछ किया है क्‍या पिछले कई वर्षों में . किसी जनसंघर्ष और विकास के लिए लड़ी गई लड़ाई का वे हवाला नहीं दे सकते . शत्रुघ्‍न सिन्‍हा ने कुछ गलत नहीं कहा है,जिस पर मोदी इतने लाल-पीले हो रहे हैं . उन्‍होंने मोदी को चुनौती दी कि वे प्रभुनाथ सिंह के साथ-साथ एनडीए गठबंधन के रामा,सुनील पांडेय, सूरजभान,मुन्‍ना शुक्‍ला वगैरह के बारे में बोलकर दिखाएं तो बिहार मानेगा कि देखने की आंख में लगे चश्‍मे का नंबर ठीक है .

इसे भी पढ़ें –

प्रभुनाथ की उम्रकैद पर बोले सुमो : अगर बिहार होता तो अब भी सजा नहीं होती

प्रभुनाथ सिंह को मर्डर केस में उम्रकैद की सजा

शत्रुघ्न को मिला भोला सिंह का साथ, पूछा – निकालने की बात करने वाले सुशील मोदी कौन?