‘पटना मेट्रो को सालभर में भी नहीं, नागपुर को 15 दिन में दे दी मंजूरी’

PATNA-METRO-BIG4
प्रतीकात्मक फोटो

पटना (नियाज़ आलम) : केन्द्र में मोदी सरकार के तीन साल पूरे हो गए है, ऐसे में विपक्ष 2014 लोकसभा चुनाम में भाजपा द्वारा किए गए दावों और वादों को लेकर मोदी सरकार पर आक्रामक है. बिहार की सत्तारूढ़ पार्टी जदयू ने केन्द्र सरकार पर बिहार के साथ सौतेला व्यवहार करने का आरोप लगाया है. पार्टी प्रवक्ता अरविन्द निषाद ने कहा है कि पटना में मेट्रो रेल दौड़े, इसके लिए बिहार सरकार लगातार प्रयासरत् है. लेकिन केन्द्र सरकार इस पर ध्यान नहीं दे रही है.

निषाद ने कहा कि पटना मेट्रो प्रोजेक्ट की मंजूरी के लिए बिहार सरकार पिछले एक साल से केन्द्रीय शहरी विकास मंत्रालय को प्रेजेंटेशन दे रही है लेकिन अबतक इस मामले में मंत्रालय ने कोई जवाब नहीं दिया. उन्होंने कहा कि केन्द्रीय मंत्रालय बिहारवासियों के साथ अन्याय कर रहा है, क्योंकि एक तरफ पटना मेट्रो प्रोजेक्ट को एक साल में भी मंजूरी नहीं मिली और दूसरी तरफ संघ मुख्यालय के शहर यानि नागपुर मेट्रो प्रोजेक्ट को मात्र 15 दिन में ही मंजूरी दे दी गई.

ARVIND-NISHAD

जदयू प्रवक्ता ने कहा कि दरअसल केन्द्र की प्राथमिकता केवल भाजपा शासित राज्यों के विकास की योजनाओं को ही मंजूरी देने का है. इसके साथ ही अरविन्द निषाद ने कहा कि शहरी विकास मंत्रालय ने देश के सभी राज्यों में स्मार्ट सिटी बनाने के लिए 3-3, 4-4 शहरों को चुना लेकिन यहां भी बिहार के साथ भेदभाव किया गया. मंत्रालय ने बिहार के केवल एक शहर भागलपुर को ही स्मार्ट सिटी के लायक समझा. उन्होंने कहा कि भाजपा शासित राज्यों के तीन या चार शहरों को स्मार्ट सिटी योजना के तहत चयनित कर विकसित करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है, जो उचित नहीं है.

इसे भी पढ़ें –

SSC की MTS परीक्षा रद्द, क्वेश्चन पेपर हो गए थे लीक

इन तारीखों को बंद रहेगा कोइलवर पुल, सोच-समझ कर गुजरें

बेगूसराय में पेट्रोल पंप पर हत्या, सरेशाम लूट